class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नफरत की बात करने वाले समाज के समक्ष खतरा: मोदी

नफरत की बात करने वाले समाज के समक्ष खतरा: मोदी

दुनिया में आईएसआईएस के पांव पसारने की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चेताया कि घृणा और हिंसा की बात करने वाले हमारे समाज के ताने बाने के समक्ष खतरा उत्पन्न कर रहे हैं। उन्होंने युवाओं से कट्टरपंथी विचारधारा के जवाब में एक अवधारणा तैयार करने को कहा।
 
प्रधानमंत्री ने परोक्ष रूप में पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए कहा कि जो लोग आतंकवादियों को शरण देते हैं और उनका राजनीतिक हथियार की तरह इस्तेमाल करते हैं, उनकी निंदा करनी चाहिए।

नौरोबी विश्वविद्यालय में छात्रों को संबोधित करते हुए मोदी ने घृणा और आतंक मुक्त विश्व की वकालत की और कहा कि आर्थिक विकास के लाभ का फायदा उठाने के लिए लोगों और समाज की सुरक्षा जरूरी है। उन्होंने कहा कि घृणा और हिंसा की बात करने वाले हमारे समाज के ताने बाने के समक्ष खतरा उत्पन्न कर रहे हैं।

कट्टरपंथ का मुकाबला करने की जरूरत को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि कट्टरपंथी विचारधारा का मुकाबला करने के लिए युवा एक जवाबी अवधारणा तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:isis pm narendra modi hatred violence