DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

9/11 के बाद सीआईए के अधिकारियों के बीच थे गहरे मतभेद

9/11 के बाद सीआईए के अधिकारियों के बीच थे गहरे मतभेद

अमेरिका के न्यूयॉक स्थित वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में 11 सितंबर 2००1 में हुए आतंकवादी हमले के बाद खुफिया एजेंसी सीआईए के अधिकारियों के बीच इस बात को ले कर गहरे मतभेद थे कि इस घातक हमले को रोकने के लिए क्या उपाय किए जा सकते थे।

आतंकवादी हमले के बाद सीआईए के महानिरीक्षक जॉन हेलगेरसन द्धारा 2००5 में तैयार की गई रिपोर्ट में कहा गया था कि आतंकवादी हमला होने से पहले अलकायदा से निपटने के लिए रक्षा मंत्रालय और सीअरइए के पास न तो कोई रणनीति थी और न ही संसाधन। इस रिपोर्ट को पहली बार 2००7 में सार्वजनिक किया गया था लेकिन सीआईए की ओर से कल जारी की गई एक रिपोर्ट से खुफिया एजेंसी के पूर्व निदेशक जार्ज टेनेट और उनके सहायकों के बीच के उस विवाद का पता चलता है जिसमें वह अलकायदा और उसके नेता ओसामा बिन लादेन पर बहस ही करते रह गए।

इन दस्तावेजों में कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं है कि जनवरी 2००1 में सत्ता संभालने के बाद राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश और उनके कार्यालय ने अलकायदा के खतरे से निपटने के लिए क्या किया। बुश के कार्यकाल के कुछ पूर्व अधिकारियों यहां तक कि उनके आतंकवाद निरोधक जार रिचर्ड क्लार्क तक ने यह कहा है कि अलकायदा कभी भी श्री बुश की प्राथमिकता में नहीं रहा।

टेनेट ने हेलगेरसन द्धारा तब तैयार की गई रिपोर्ट पर कडी आपत्ती करते हुए जून 2००5 में उन्हें एक पत्र लिखकर कहा था, 'आपकी रिपोर्ट मेरे पेशेवर रुख कर्मठता और आतंक विरोधी अभियान में हिस्सा ले रहे अमेरिकी खुफिया विभाग के कर्मचारियों का नेतृत्व करने की क्षमता पर सवाल कर रही है।'

उन्होंने कहा 'नुकसान से बचने के लिए मैं जो कर सकता था मैंने वह सब कुछ किया। आपकी रिपोर्ट मेरे तथा मेरे कर्मचारियों के कामों की सही तस्वीर पेश नहीं कर रही है।' टेनेट ने रिपोर्ट जारी करने के दौरान कहा 'मैंने ये बातें उस वक्त कहीं थी जब यह रिपोर्ट आठ वर्ष पहले सार्वजनिक की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CIA releases declassified documents relating to 9/11 terror attack