DA Image
4 अप्रैल, 2020|4:40|IST

अगली स्टोरी

बाबा रामदेव के संन्यास दिवस पर दिग्गजों ने योगगुरु के कामों को सराहा

बाबा रामदेव के संन्यास दिवस पर दिग्गजों ने योगगुरु के कामों को सराहा

पतंजलि योगपीठ में योगगुरु बाबा रामदेव का संन्यास दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पतंजलि पहुंचकर स्वामी रामदेव को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने पतंजलि की ओर से चलाए जा रहे स्वदेशी अभियान को उत्तराखंड ही नहीं पूरे देश का गौरव बताया।

बुधवार को संन्यास दिवस समारोह के साथ स्वामी रामदेव के मार्गदर्शन में चल रहा पांच दिवसीय अध्यात्म प्रवचन सत्र भी संपन्न हो गया। पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने स्वामी रामदेव को शुभकामनायें दी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पतंजलि की ओर से प्रकाशित चार पुस्तकों योगविज्ञानम्, योगसाइंस, वैद्यप्रसारकम् व विचारक्रांति का विमोचन किया। विचारक्रांति 10 भाषाओं में और अन्य दो-दो भाषाओं में थीं।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सन्यासी जगत कल्याण के प्रति समर्पित होता है। पतंजलि योगपीठ उसी सन्न्यास परम्परा को अनवरत गढ़ रहा है। स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण की ओर से राष्ट्रहित में किये जा रहे प्रयासों को मुख्यमंत्री ने सराहा। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश के युवा अपने रोजगार परक भविष्य को लेकर पतंजलि के योग, आयुर्वेद और स्वदेशी औद्योगिक अभियान से बड़ी आशा भरी निगाहों से देख रहे हैं।

विश्व जागृति मिशन के संस्थापक आचार्य सुधान्शु महाराज ने कहा कि स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण 21वीं सदी के भारत को विकसित करने में दो सशक्त स्तम्भ साबित हो रहे हैं। वहीं स्वामी रामदेव ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री का व्यक्तित्व का किसी सन्यासी के समान है। त्रिवेंद्र सिंह रावत को यशस्वी राजनेता बताते हुए प्रदेश की स्मृद्धि की उम्मीद जताई। पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने पतंजलि कार्यकर्ताओं की ओर से मुख्यमंत्री का स्वागत किया। मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक, धन सिंह रावत, विधायक स्वामी यतीश्वरानंद, आदेश चौहान, देशराज कर्णवाल, कुंवर प्रणव सिंह चैम्पियन, प्रदीप बत्रा, सुरेश राठौर, मेयर मनोज गर्ग, भगवंत खुल्लड़, मनोज गर्ग, जयपाल सिंह आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Baba Ramdev's works were appreciated