DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांदा में यात्रियों को पीटकर जीआरपी पुलिस ने रुपए छीने

संपर्कक्रांति एक्सप्रेस में शुक्रवार की भोर में बांदा स्टेशन पर तैनात जीआरपी के दो सिपाहियों ने यात्रियों को पीटकर रुपये छीन लिए। विरोध पर सिपाहियों ने जेल में डालने की धमकी दी। सिपाहियों ने कई लोगों की जेब से जबर्दस्ती रुपये निकलवा लिए। पीड़ितों ने सिपाहियों के फोटो खींचकर मीडिया तक पहुंचाया तो सिपाहियों ने फोन करके खबर न छापने के लिए दबाव बनाया।

कालिंजर क्षेत्र के बसराही निवासी उमेश कुमार पटेल अतर्रा डिग्री कॉलेज में बीएससी की छात्र है। वह अपने भतीजे अमित के साथ नोएडा गया था। वहां से दोनों गुरुवार शाम संपर्क क्रांति ट्रेन की जनरल बोगी में बैठकर लौट रहे थे। मऊरानीपुर के पास बोगी में बांदा जीआरपी में तैनात राजेंद्र प्रसाद और अजय सिंह चढ़े। ट्रेन महोबा स्टेशन के बाद बांदा की ओर बढ़ी दोनों यात्रियों के टिकट चेक करने लगे। उमेश और अमित से कहा, तुम्हारा टिकट सही नहीं है, रुपए निकालो। कुछ यात्रियों ने धमकी पर रुपये दे दिए।

उमेश ने रुपए देने से मना किया। इस पर एक सिपाही ने उसे तमाचा जड़़ दिया। अमित ने विरोध किया तो दूसरे सिपाही ने उसे भी पीट दिया। मारपीट होने पर कुछ यात्री बोले तो सिपाहियों ने उन्हें भी पीट दिया। धमकी दी कि अधिक बोलोगे तो जेल में बंद कर दूंगा। उमेश ने आरोप लगाया कि सिपाहियों ने उसकी और अमित की जेब से पांच-पांच सौ रुपए निकाल लिए। दोनों ने बोगी से चार से पांच हजार रुपए वसूल किए।

बांदा स्टेशन पर दोनों सिपाही उतरे और चले गए। पीड़ितों ने इसकी जानकारी मीडिया को दी। बोगी के अंदर की फोटो ली गई तो तमाम लोग बोले कि जीआरपी वालों ने उनकी पिटाई की है और रुपए भी ले लिए हैं। हालांकि वह इतने डरे थे कि अपना नाम बताने से कतरा रहे थे। सिपाहियों की धमकी से डले पीड़ितों ने जीआरपी थाने में शिकायत नहीं की। बोले, वह रेलवे से इसकी शिकायत करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बांदा में यात्रियों को पीटकर जीआरपी पुलिस ने रुपए छीने