DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तावडू को मिला उपमंडल का दर्जा

नूंह जिले के तावडू कस्बे को उपमंडल बनाने की वर्षों पुरानी मांग शुक्रवार को पूरी हो गई। राष्ट्रपति की मौजूदगी में खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने तावडू को उपमंडल बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त से पूर्व इसके लिए जरूरी औपचारिकताओं को पूरा करते हुए एसडीएम की तैनाती कर दी जाएगी। इस बार स्वतंत्रता दिवस पर तावडू उपमंडल कार्यालय में वहां के एसडीएम ही झंडा फहराएंगे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल शुक्रवार को सोहना के पास राष्ट्रपति के गोद लिए गांव दौला में आयोजित स्मार्ट गांव पहल कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने राष्ट्रपति द्वारा शुरू की गई योजनाओं से उत्साहित होकर कहा कि उनकी सरकार ग्रामीणों को अधिकतम एवं आधुनिकतम सुविधाएं देने का प्रयास कर रही है। तावडू एवं आसपास के लोगों को छोटे-छोटे प्रशासनिक कार्यों के लिए जिला मुख्यालय की दौड़ लगानी पड़ती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि तावडू कस्बे को उपमंडल का दर्जा दिया जाएगा। इसके लिए सभी जरूरी औपचारिकताएं अगले दो माह में पूरी हो जाएंगी। इसके बाद यहां के लिए एसडीएम तैनात कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस उपमंडल के दायरे में आसपास के 82 गांव आएंगे।

स्मार्ट बनेंगे हरियाणा के 1000 गांव

राष्ट्रपति द्वारा 100 गांवों को गोद लेने के बाद यहां योजनागत तरीके से विकास की रूपरेखा देखकर मुख्यमंत्री ने भी राज्य के 1000 गांवों को गोद लेने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इन गांवों में भी राष्ट्रपति की ओर से गोद लिए गए गांवों की तर्ज पर ही विकास कार्य कराए जाएंगे। इन गांवों में भी कौशल प्रशिक्षण से लेकर चिकित्सा, शिक्षा एवं अन्य बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति भवन के जिस सभागार में अक्सर देश विदेश के राजनायिकों के बीच विचार विमर्श होता है। उसी हॉल में बैठकर राष्ट्रपति की मौजूदगी में हरियाणा के पांच गांवों के सरपंचों ने विकास का खाका तैयार किया। यह गौरव की बात है।

केरोसीन मुक्त हो गए, अब शौचमुक्त राज्य का लक्ष्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक अप्रैल को हरियाणा ने केरोसीन मुक्त राज्य का लक्ष्य हासिल कर लिया। अब नया लक्ष्य ओडीएफ यानी (खुले में शौच मुक्त) राज्य का है। तीन सप्ताह के अंदर इस लक्ष्य को भी पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने राष्ट्रपति को भरोसा दिलाते हुए कहा कि महिला शिक्षा को लेकर उनकी सरकार काफी जागरूक है। राज्य भर में हर 20 किलोमीटर के अंदर एक कॉलेज खोलने की योजना पर काम चल रहा है।

अंबाला, पलवल एवं महेंद्रगढ़ में कौशल केंद्रों का ई-उद्घाटन

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल एवं केंद्रीय कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूढ़ी की मौजूदगी में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अंबाला, पलवल एवं महेंद्रगढ़ में बन कर तैयार हुए कौशल विकास केंद्रों का रिमोट का बटन दबाकर ई-उद्घाटन किया। इस मौके पर तीनों केंद्रों पर संबंधित क्षेत्र के सांसद, विधायक एवं प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा क्षेत्रीय लोग मौजूद थे। इन तीनों केंद्रों में स्थानीय युवाओं को उनकी योग्यता के मुताबिक कौशल प्रशिक्षण देकर रोजगार दिलाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tawdu meets subdivision status : CM