DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति के स्वागत के लिए तैयार हुआ दौला गांव

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के दौला गांव में स्वागत की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। राष्ट्रपति यहां राजकीय उच्चतर विद्यालय एवं ड्राइवर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट की आधारशिला रखेंगे। गुरुवार को शिलान्यास कार्यक्रम का फुल ड्रेस रिहर्सल हुआ। इसमें पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने सुरक्षा और दूसरे इंतजामों की बारीकी से पड़ताल की। उपायुक्त हरदीप सिंह के मुताबिक राष्ट्रपति शुक्रवार को ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट तथा राजकीय उच्चतर विद्यालय की आधारशिला रखेंगे। इन दोनों परियोजनाओं पर लगभग आठ करोड़ रुपये खर्च होंगे। राजकीय उच्चतर विद्यालय का निर्माण तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) की ओर से लगभग तीन करोड़ की लागत से किया जाएगा। इसका निर्माण कार्य हैवीटेक निवारा तंत्र तकनीक से होगा। इसमें सामान्य ईंटों की बजाय मिट्टी से बनी निर्माण सामग्री का इस्तेमाल किया जाएगा।

डीटीआई खोजा जाएगा:

उपायुक्त के मुताबिक राष्ट्रपति द्वारा गांव दौला में जो दूसरी आधारशिला रखी जाएगी। वह संस्थान भी उत्तर भारत का पहला संस्थान होगा। इसमें राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट(डीटीआई) खोला जाएगा। इसके लिए ग्राम पंचायत द्वारा निगम को लगभग सात एकड़ भूमि दी गई है। इसमें से लगभग 3.5 एकड़ भूमि पर यह डीटीआई बनाया जाएगा। बाकि 3.5 एकड़ भूमि पर एनएसडीसी द्वारा मल्टी स्किल ट्रेनिंग की व्यवस्था की जाएगी। इस पूरी परियोजना पर लगभग पांच करोड़ रुपए की लागत आएगी। एनएसडीसी के स्टेट एंगेजमेंट हेड जयकांत सिंह के अनुसार डीटीआई में लगभग 1.5 किलोमीटर लंबा ट्रैक का निर्माण किया जाएगा। इसमें प्रशिक्षुओं के लिए आवासीय सुविधा भी होगी। इस इंस्टीट्यूट में भारी एवं हलके व्यावसायिक वाहनों के अलावा जेसीबी, क्रेन आदि चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। चालकों को शिष्टाचार एवं बोलचाल के तरीके भी सिखाए जाएंगे।

ई उद्घाटन करेंगे

राष्ट्रपति द्वारा स्मार्ट ग्राम पहल के तहत इन दोनों परियोजनाओं के शिलान्यास संबंधित शिलालेख का अनावरण रिमोट के जरिये होगा। कार्यक्रम सुबह साढ़े ग्यारह बजे होगा। इसके अलावा, राष्ट्रपति अंबाला, पलवल और महेन्द्रगढ़ में प्रधानमंत्री कौशल केन्द्रों का ई-उद्घाटन करेंगे। विभिन्न कार्यक्रमों के तहत सफल छात्रों एवं प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्रों का वितरण करेंगे। इस समारोह में केन्द्रीय तेल एवं प्राकृतिक गैस राज्यमंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, कौशल विकास एवं उद्यमशीलता राज्यमंत्री राजीव प्रताप रूड़ी, योजना, शहरी विकास, आवास और शहरी गरीबी उपशमन राज्यमंत्री राव इन्द्रजीत सिंह के अलावा, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, लोक निर्माण मंत्री राव नरवीर सिंह , कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ तथा स्थानीय विधायक तेजपाल तंवर भी उपस्थित रहेंगे।

कम लागत में बनेगा स्कूल:

विद्यालय भवन का निर्माण कराने वाले आर्किटेक्ट प्रशांत शाह के मुताबिक इस तकनीक को एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी ने तैयार किया है। इसके भारत समेत 14 राष्ट्र सदस्य हैं। इस तकनीक से निर्माण पर सामान्य की अपेक्षा लगभग 25 प्रतिशत कम लागत आती है। वहीं भवन पूरी तरह भूकंपरोधी होता है। भवन निर्माण की यह तकनीक भी आम जनता को ‘लो कॉस्ट हाउसिंग यानी कम कीमत के मकान के लिए तैयार की गई है। कोई भी साधारण व्यक्ति छह दिनों में इस तकनीक को सीख सकता है। इस तकनीक से उत्तर भारत में पहली बार गांव दौला में विद्यालय भवन का निर्माण किया जाएगा। यह विद्यालय भवन एक तल का होगा और इसमें विस्तार की गुंजाइश रखी जाएगी। फिलहाल इसका निर्माण 18,000 वर्ग फीट क्षेत्र में किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dola village ready to welcome President