DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जरूरी है विश्वास

जीवन में विकास पाने के लिए हमें तीन चीजों में विश्वास की आवश्यकता है। स्वयं में, समाज की अच्छाई में और भगवान में। अनेक घटनाओं में कई निर्दोष लोगों की जान जाने पर भगवान के अस्तित्व पर संशय होता है। मन में प्रश्न आता है कि अगर वह है, तो फिर अपने ही भक्तों के साथ उसने ऐसा क्यों किया? ऐसी परिस्थिति में विश्वास कमजोर हो जाता है और आस्था टूटने लगती है, जबकि ऐसे मौकों पर विश्वास की सबसे अधिक जरूरत है।

हमें यह याद रखना चाहिए कि भगवान निष्पक्ष है; वह हर जगह व्याप्त है, न कि किसी एक विशेष स्थान में। जो दिवंगत हुए, वे उसे पा लेते हैं, जो बच गए हैं, वे अपने को धन्यभागी समझकर भगवान में पूरी श्रद्धा बनाए रखते हैं, किंतु मरने वालों के रिश्तेदारों के लिए यह उनके विश्वास की परीक्षा का समय है। उनके अंदर बार-बार यही सवाल आता है- ‘क्यों? क्यों? क्यों?’ उनके अंदर ऐसी नकारात्मकता का आना स्वाभाविक है। जब आपके प्रियजन आपको अचानक छोड़कर चले जाते हैं, तो आपका विश्वास हिल जाता है, लेकिन त्रासदी के समय में विश्वास ही आपको उससे खींचकर निकालने में मदद करता है। वास्तव में, संकट के समय विश्वास हमारे मन को संभाले रखता है और निराशा व दोषारोपण की मानसिकता में हमें गिरने से रोकता है। वह प्रार्थना का समय होता है। जब हमारा मन डर से भर जाता है, तो प्रार्थना उसे स्थिर बनाए रखने में मदद करती है।

हवाई दुर्घटनाओं के कारण हम उड़ान लेना तो बंद नहीं करते या सड़क दुर्घटनाओं की वजह से गाड़ी से जाना भी बंद नहीं करते। विश्वास के बिना हमें घटनाओं से डर लगता है और हम अपने आप को अकेला, खोया हुआ और बिन खिवैया की नैया महसूस करते हैं। मुश्किल समय में कई तरीकों से हमारा छिपा हुआ साहस उजागर होता है। अटूट विश्वास हमें आपदाओं के बीच भी मुस्कराने की शक्ति देता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:trust is important