अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलकाता पुलिस का गिरिडीह में छापा

डकैती और लूट मामले में कोलकाता व बेंगाबाद की पुलिस ने गुरुवार को रात भर बेंगबााद के कई इलाकों में छापेमारी कर दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के भोलपुर शांति निकेतन थाना क्षेत्र में इन बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया है।

बताया जाता है कि पश्चिम बंगाल (कोलकाता पुलिस)के भोलपुर शांति निकेतन थाना पुलिस दोनों अपराधियों की तलाश में गुरुवार को ही गिरिडीह पहुंची थी। मोबाइल के टॉवर लोकेशन से पश्चिम बंगाल पुलिस दोनों की तलाश करते-करते गिरिडीह आयी। गुरुवार को यहां आने के बाद पश्चिम बंगाल पुलिस पुलिस निरीक्षक सह नगर थाना प्रभारी राजू से मिले।

इसके बाद नगर थाना प्रभारी द्वारा पुअनि मो. फैज रब्बानी को पश्चिम बंगाल पुलिस को अपराधियों की धर पकड़ करने में सहयोग करने की जिम्मेवारी सौंप दी।

इसके बाद पुअनि मो. फैज रब्बानी पश्चिम बंगाल पुलिस के साथ अपराधियों की धर पकड़ में जुट गयी। अपराधियों का मोबाइल टॉवर लोकेशन गिरिडीह शहर का मिल रहा था। लिहाजा पुलिस मोबाइल टॉवर लॉकेशन के आधार पर दोनों अपराधियों को ढूंढ़ने में लग गयी। इसी बीच पुलिस को पता चला कि दोनों अपराधी हुट्टी बाजार के समीप स्थित एक ट्रांसपोर्ट में ठेला चलाने का काम करते हैं। इसके बाद पुलिस दोनों के संबंध में जानकारी इकट्ठा की। रात लगभग 11 बजे पुलिस ने दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी शुरू की।

नगर थाना के पुअनि मो. फैज रब्बानी के साथ मिलकर पश्चिम बंगाल पुलिस बेंगाबाद थाना क्षेत्र के फिटकोरिया आमजोर से एक अपराधी भवानी रविदास को धर दबोचा। इसके अलावा दूसरे अपराधी नसीम अंसारी को बेंगाबाद थाना क्षेत्र के ही बरियारपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। नगर थाना के पुअनि मो. फैज रब्बानी ने बताया कि दोनों को पश्चिम बंगाल की भोलपुर शांति निकेतन पुलिस अपने साथ ले गयी है। इन लोगों के तीन साथी जो भोलपुर शांति निकेतन थाना क्षेत्र के ही निवासी हैं उनकी गिरफ्तारी पूर्व में ही हो चुकी है।

गिरफ्तार अपराधियों द्वारा पूछताछ में किए गए खुलासे से ही भवानी व नसीम की जानकारी पुलिस को लगी थी और उनका मोबाइल नंबर मिला था। इसी मोबाइल नंबर के आधार पर पश्चिम बंगाल पुलिस दोनों की तलाश में गिरिडीह पहुंची थी।

फोन आने पर साथियों को लेकर वारदात करने जाता था पश्चिम बंगाल: नगर थाना के पुअनि मो. फैज रब्बानी ने बताया कि भवानी रविदास फोन कॉल आने पर गिरिडीह से दो-तीन साथियों को लेकर पश्चिम बंगाल अपराधिक वारदात को अंजाम देने जाता था। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में उसने जहां पश्चिम बंगाल के भोलपुर में किए गए तीनों अपराधिक वारदात में अपनी संलिप्तता स्वीकार की वहीं यह भी कबूल किया कि वहां के स्थानीय अपराधियों द्वारा अपराध करने के लिए उससे संपर्क किया जाता था। जब भी फोन आता वह गिरिडीह से अपने साथ दो-तीन साथियों को लेकर अपराधिक घटना को अंजाम देने के लिए पश्चिम बंगाल जाता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kolkata police raid in Giridih