DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिले के होनहारों ने यूपीएससी परीक्षा में बनाया स्थान

टीएचए के दो होनहारों ने संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की है। वसुंधरा सेक्टर-12 के आशीष लाल ने 364वीं और वैशाली सेक्टर-7 के ऋषि यादव ने 770वीं रैंक हासिल की है। बुधवार शाम से ही दोनों के घर में उत्सव जैसा माहौल है। लोग बधाइयां देने वाले आ रहे हैं।

वसुंधरा सेक्टर-12 के आशीष लाल ने सिविल परीक्षा में 364 वीं रैंक प्राप्त की है। आशीष ने बताया कि वह मूल रूप से बुलंदशहर काला आम इलाके के रहने वाले हैं। उनके पिता वाईसी गुप्ता इलाहाबाद हाईकोर्ट से रिटायर्ड जज हैं। जबकि मां कुमकुम गृहणी हैं। छोटा भाई मनीष इलाहाबाद हाईकोर्ट में वकील हैं। आशीष ने आठवीं तक की पढ़ाई लखनऊ में रहकर की है। बाद में 12वीं तक वह आरके पुरम दिल्ली डीपीएस स्कूल के छात्र रहे। साल 2009 दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रीकल विभाग से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। इसके बाद बीएचईएल कंपनी में पांच साल नौकरी करने के बाद लॉ की पढ़ाई के साथ सिविल परीक्षाओं की तैयारी करना शुरू कर दी। रोजाना आठ से दस घंटे पढ़ाई की। वह तीसरे प्रयास में सफल हुए।

डिजीटल मीडिया का सहारा लिया

वैशाली सेक्टर-7 के रामप्रस्था ग्रीन सोसाइटी में प्लॉट संख्या 66 में रहने वाले ऋषि यादव ने सिविल सेवा परीक्षा में 770वीं रैंक हासिल की है। वह मूल रूप से कानपुर के रहने वाले हैं। ऋषि के पिता आरएन सिंह यादव यूपी पुलिस में इंस्पेक्टर के पद पर सहारनपुर में तैनात हैं। ऋषि की मां सीमा यादव गृहणी हैं, जबकि छोटा भाई कक्षा 12वीं का छात्र है। ऋषि ने बताया कि सिविल परीक्षा को उन्होंने तीन बार प्रयास करने के बाद उत्तीर्ण किया है। इस परीक्षा में सोशल मीडिया और डिजिटल मीडिया ने काफी सहारा दिया है। बता दें कि ऋषि ने कक्षा 10वीं में 83 प्रतिशत अंक और बारहवीं की पढ़ाई 80 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। उन्होंने सेठ छबीलदास स्कूल से 12वीं तक की पढ़ाई की है जबकि मैकेनिकल में इंजीनियरिंग की पढ़ाई जेएसएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से की है। इस परीक्षा को उतीर्ण करने के लिए उन्होंने करीब 9 से 10 घंटे तक की पढ़ाई की है।

बास्केट बॉल खिलाड़ी हैं ऋषि

ऋषि ने बताया कि कक्षा 12वीं तक उन्हें बास्केटबॉल खेलने का बहुत शौक था। उन्होंने राज्य स्तर तक बास्केटबॉल टूर्नामेंट भी खेले हैं, लेकिन पापा के सपनों को साकार करने के लिए उन्होंने सिविल सेवा में अपनी रुचि दिखाई। तीसरी बार में जाकर सफलता प्राप्त होने से उनके परिवार में खुशी का माहौल है।

एसी करना था 22 मई को ज्वाइन

ऋषि का सीआरपीएफ में असिस्टेंड कमांडेंट के पद भी चयन हुआ है। उनको 22 मई 2017 को ज्वाइन करना था, लेकिन उन्हें इस परीक्षा परिणाम के आने का इंतजार था। उनका गुड़गांव के कैंपस में ज्वाइन करना था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:TWA youth passed the UPSC Public Service Commission Examination