DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व हेडमास्टर के बेटे ने यूपीएससी में लाया 74 वां रैंक

शहर के शिबली कॉलोनी निवासी और पूर्व हेडमास्टर मो. कमरुद्दीन अंसारी के बेटे आरिफ ने यूपीएससी की परीक्षा में 74वां रैंक हासिल कर जिले का नाम रौशन किया है। रमजान के मौके पर बेटे की कामयाबी से पूरा परिवार उत्साहित है। घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा है। बता दें कि आरिफ इसके पहले तीन बार भारतीय वन सेवा का साक्षात्कार नहीं पास कर सका था। सहायक कमाडेंट की परीक्षा निकालने के बाद भी सिविल सेवा में जाने की चाहत में आरिफ ने सहायक कमांडेंट की नौकरी छोड़ दी थी।

नहीं रास आया दिल्ली में जॉब

शहर के ज्ञान भारती पब्लिक स्कूल से 2004 में आरिफ ने दसवीं की परीक्षा पास की। इसके बाद वर्ष 2006 में दिल्ली के जामिया मालिया इस्लामिया विश्वविद्यालय से 12वीं की। इसी विश्वविद्यालय से वर्ष 2010 में बीटेक (मैकेनिकल इंजीनियर) किया। इसके बाद दिल्ली में एक जर्मनी की कंपनी में उसने जॉब किया। लेकिन यह उसे रास नहीं आया।

अब्बू जॉब नहीं करना, देश की सेवा करनी है

आखिरकार आरिफ ने जॉब छोड़ने के फैसले से अपने पिता को अवगत कराया। कहा अब्बू मुझे देश की सेवा करनी है। मुख्य परीक्षा में उसने उर्दू साहित्य को चुना। आरिफ की गृहणी मां नसीमा कमर कहती है कि उसकी सफलता पर सब कुछ कुर्बान है। आरिफ तीन भाई और तीन बहन है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ex-headmaster son got 74 rank in upsc