DA Image
11 अप्रैल, 2020|12:33|IST

अगली स्टोरी

इटावा में एसआईटी ने फर्जी क्लेम लेने वालों पर कराई रिपोर्ट

फर्जी कागजात तैयार कर क्लेम लेने वाले छह लोगों पर एसआईटी ने मामले दर्ज कराए। पिछले कई दिनों से एसआईटी इन मामलों की छानबीन कर रही थी, पड़ताल में सच सामने आने पर कार्रवाई की गई। फ्रेंड्स कॉलोनी थाने में एक और सिविल लाइन थाने में दो मुकदमे कराए गए हैं। इन मामलों की विवेचना एसआईटी लखनऊ ही करेगी। सभी पर फर्जी कागजात बनाकर एक्सीडेंट क्लेम लेने का आरोप है।

लखनऊ एसआईटी के उप निरीक्षक रोहित कुमार शुक्ला ने बताया कि दतावली फ्रेंड्स कॉलोनी निवासी गोमती देवी पत्नी स्व. कृष्णकांत व बलवीर सिंह पुत्र रामस्वरूप निवासी धान मिल के पीछे पक्का बाग इटावा ने कृष्णकांत की मृत्यु के फर्जी अभिलेख तैयार किए। इन्हीं कागजातों के सहारे क्लेम के 3 लाख 89 हजार 280 रुपए ले लिए गए। फर्जी क्लेम होने की जानकारी मिलने पर जांच पड़ताल की और शिकायत सही पाई गई। इसके अलावा सुशीला देवी पत्नी स्व. रमेश चंद्र व मुकेश पुत्र स्व. मोहरमन निवासी गुनहईया कुर्रा मैनपुरी ने मुआवजा लेने के लिए षडयंत्र रचकर फर्जी घटना बनाई और फर्जी दस्तावेजों को सही ठहराकर लाभ हासिल कर लिया। गिरधारीपुरा के अजय पुत्र कोमल सिंह व अशोक यादव निवासी गोपीपुर चित्रकूट ने भी षडयंत्र रचकर फर्जी कागजात तैयार कर पुलिस लाभ हासिल किया।

एसआईटी के एसआई रोहित कुमार शुक्ला ने चारों लोगों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कराया। सिविल लाइन इंस्पेक्टर गोपाल सिंह यादव ने बताया कि फर्जी क्लेम हासिल करने वाले लोगों की एक पूरी चेन है, एसआईटी ही आगे की कार्रवाई को अंजाम देगी। बता दें कि फर्जी क्लेम लेने लोगों का पूरा ग्रुप जिले में सक्रिय है, यह लोग दुर्घटना होने पर पीड़ितों संपर्क करते हैं और फिर से फर्जी रूप देकर क्लेम हासिल करते हैं। जबकि स्थिति क्लेम लेने लायक होती भी नहीं हैं। और तो और फर्जी घटना भी बना दी जाती है और कागजात ऐसे तैयार किए जाते हैं कि कोई गलत ही न कह पाए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Reported on the fake claim holders in Etawah