DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'नटवरलाल' के लिए गाना एक बुरे सपने की तरह था: बिग बी

'नटवरलाल' के लिए गाना एक बुरे सपने की तरह था: बिग बी

हिन्दी सिनेमा के महानायक अमिताभ बच्चन ने खुलासा किया है कि हाल में 36 साल पूरे करने वाली अपनी फिल्म 'मिस्टर नटवरलाल' में वह गाना नहीं चाहते थे लेकिन संगीतकार राजेश रोशन ने उनकी एक नहीं सुनी और गाना गवा ही लिया।
   
72 साल के अभिनेता ने 1979 में आई इस फिल्म के गाने 'मेरे पास आओ' के साथ पाश्र्वगायन की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा कि गाना रिकॉर्ड करने की प्रक्रिया उनके लिए एक बुरे सपने की तरह थी।
   
उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा, मुझे एकाएक बताया गया कि मैं पहली बार अपना खुद का बैकग्राउंड गीत 'मेरे पास आओ' गाने वाला हूं...प्रस्ताव से डरकर मैंने निर्देशक और संगीतकार के साथ घंटों बहस की कि मैं ऐसा नहीं करूंगा क्योंकि असल में मैं ऐसा कर ही नहीं सकता। लेकिन इसके बाद की एक अलग ही कहानी है।
   
अभिनेता ने लिखा, गाना महबूब स्टूडियो के रिकॉर्डिंग थियेटर में रिकॉर्ड किया गया जहां अब ऐसा नहीं होता, इसका इस्तेमाल फिल्मों की शूटिंग या विज्ञापनों की शूटिंग के लिए एवं साक्षात्कारों के लिए टीवी सेट के तौर पर होता है। यह एक बुरा सपना था।
   
राकेश कुमार के निर्देशन में बनी एक्शन-कॉमेडी फिल्म 'मिस्टर नटवरलाल' में रेखा और अमजद खान ने भी काम किया था। इसके बाद से अमिताभ के अपनी फिल्मों में गाना का सिलसिला शुरू हो गया और उन्होंने 'जुम्मा चुम्मा', 'खइकै पान बनारस वाला', 'होली खेले रघुवीरा' और हाल में शमिताभ फिल्म में 'पिद्दी सी बातें' समेत कई गाने गाए।

यहां सुने यह गाना:

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'नटवरलाल' के लिए गाना एक बुरे सपने की तरह था: बिग बी