DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'

अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'

लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

अमिताभ बच्चन अपने पिता हरिवंश राय बच्चन की इस कविता को अक्सर लोगों के बीच बोलते हुए नजर आते हैं। उनका एक वीडियो भी खूब वायरल हुआ था, जिसमें अमिताभ जिन्दगी की चुनौतियों से लड़ने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। इस वीडियो में उनकी एक लाइन काफी प्रेरणादायक है, 'अगर दिन अच्छा जाता है तो मैं समझता हूं कि ठीक है, लेकिन अगर कुछ बेहतर नहीं होता तो मैं समझता हूं कि ये दिन मेरे लिए था ही नहीं, कोई दूसरी ऑपरच्यूनिटी मेरा इंतजार कर रही है।'

अमिताभ बच्चन के जीवन पर अगर नजर डालें तो उनकी ये बातें उनके जीवन से ही प्रेरित लगती हैं। अमिताभ मुश्किलों से घबराने वाले नहीं, बल्कि उसका डटकर सामना करने वाले इंसान है।

बिग बी इन दिनों अपनी गर्दन के दर्द से काफी परेशान हैं। अमिताभ बच्चन का कहना है कि वह गर्दन के दर्द से जूझ रहे हैं और यह एक पुरानी बीमारी है जो फिर से उन्हें परेशान कर रही है।

सुनील का कपिल को करारा जवाब,'जानवरों के साथ इंसानों से भी करें प्यार'

अमिताभ, ऐश्वर्या राय के पिता के अंतिम संस्कार के दौरान गर्दन में बेल्ट लगाए नजर आए थे। 74 वर्षीय अभिनेता ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि कई सालों से एक्शन दृश्यों को करने के कारण उनकी गर्दन को नुकसान पहुंचा है।

बच्चन ने लिखा है, 'कई साल, हां, गर्दन में बेल्ट लगाए तस्वीर देख रहे हैं और इसे देख कर आपको विस्मय या दर्द का आभास होगा या आप चौंक रहे होंगे। यह सच है और यह मेरी गर्दन पर है क्योंकि गर्दन में दर्द है।'

कर्ज में डूबा देश का सबसे पुराना फुटबॉल क्लब, अब किंग खान का सहारा

आगे की स्लाइड में देखें, बड़ी से बड़ी दुर्घटना भी अमिताभ को नहीं कर सकी कमजोर

अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'
अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'

25 प्रतिशत ही लीवर करता है काम, मगर करियर पर नहीं आने दिया कोई असर

फिल्म 'कुली' में अमिताभ के साथ हुई घटना से तो उनका हर फैन वाकिफ है। 26 जुलाई, 1982 में ‘कुली’ फिल्म की शूटिंग के दौरान अमिताभ को उनके साथी कलाकार पुनित इस्सर के साथ एक एक्शन दृश्य करते वक्त पेट में गम्भीर चोट आई थी। एक मेज के किनारे से उनका पेट बुरी तरह टकरा गया था। उनका काफी खून बह गया था और वह कई महीनों तक मौत से लड़ते रहे थे। उन्हें बेहद कठिन प्रयासों के बाद मौत के मुंह से बचाया जा सका था। यह घटना आज भी उनके प्रशंसकों में सिहरन पैदा कर देती है। आज भी अमिताभ बच्‍चन का लीवर सिर्फ 25 प्रतिशत ही काम करता है।

शाहरुख ने रखी लेडी बॉडीगार्ड, कहा-सिर्फ यही बचा सकती हैं मुझे

लेकिन, अमिताभ बच्चन इस घटना से डरे नहीं। उन्होंने उस दर्द से उभरकर फिल्म में वापसी की और जबरदस्त एक्शन सीन दिए। इसके बाद उन्होंने शहंशाह, अग्निपथ, तूफान जैसी कई एक्श फिल्मों में काम किया। 

अमिताभ बच्चन ने इसी साल फिल्म इंडस्ट्री में 48 साल पूरे किए हैं। उम्र के 74 साल के पराव में भी अमिताभ की फिल्मों में एक जोश नजर आता है। भले ही उन्होंने 'पीकू' में एक बूढ़े बाप की भूमिका निभाई, मगर वो सड़को पर साइकिल चलाने से बाज नहीं आए। टाटा स्काई के विज्ञापन 'यो से यो से' में वो जमकर नाचते भी नजर आएं।

आगे की स्लाइड में देखें, अमिताभ के कुछ जबरदस्त एक्शन सीन्स

अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'
अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'

अमिताभ बच्चन जिसने साबित किया 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:amitabh bachchan who never look back her inspirational video and massage