अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन हजार गैंगमैन कर रहे अफसरों के सास ससुर की सेवा

पूर्व मध्य रेलवे के लगभग तीन हजार गैंगमैन रेल अफसरों के सास ससुर की सेवा में लगाए गए हैं। इन्हें यदि ट्रैक पर उतारा जाए, तो पटरी की सुरक्षा काफी अधिक बढ़ जाएगी। पर अफसर ऐसा नहीं करते और गैंसमैन से अपने घर को काम करवाते है। ये कहना है ईसीआरयकेयू के महामंत्री शशिकांत पांडेय का। पांडेय शुक्रवार को ईसीआरकेयू के शाखा दो में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि भारतीय रेल के संरक्षा श्रेणी में दो लाख से अधिक रिक्ती है। पूर्व मध्य रेल में रिक्तियां 20 हजार के करीब है। पर रेलवे इन रिक्तियों को भरने के बजाय संरक्षा का हवाला देकर ऑफिस बियरर को पदमुक्त करने की साजिश रच रहा है। एक सवाल के जवाब में पांडेय ने कहा कि इसके लिए 30 जून तक का एक्सटेंशन दिया गया है। 20 अप्रैल को ऑल इंडिया मेंस फेडरेशन और नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवे मैन की फूल बोर्ड की बैठक में मुद्दा रखा जाएगा। पांडेय के साथ मौके पर संगठन मंत्री राजेश कुमार, एसके सिंह समेत कई लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Service of mother-in-law of the officers of three thousand gangmen