DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हैरान करने वाली लेडी गागा

लेडी गागा के संगीत की दुनिया में छा जाने का सफर अनेक कठिनाइयों और संघर्षों से भरा है। एक मध्यवर्गीय परिवार में जन्म लेने के बाद गागा ने संगीत और गायकी की दुनिया पर कैसे कब्जा किया, इस पर रत्ना श्रीवास्तव की रिपोर्ट

लेडी गागा .. क्या है इस नाम का मतलब, ये तो नहीं मालूम। अलबत्ता संगीत की दुनिया की नई साम्राज्ञी हैं वह। दो साल पहले धूमकेतु की तरह उभरीं। आवाज में दम। मदहोश करने वाली आवाज। गजब की कशिश। लय-ताल में जादुई-सी रवानगी, लेकिन उतनी ही रहस्यमय और विचित्र।
 
लेडी गागा यानी हैरान कर देने वाला अंदाज-ए-बयां। उनके ड्रेस सेंस को देखें या पोज देने के तौर-तरीकों को। वह नॉर्मल लगती ही नहीं। हाल ही में उन्हें लॉस एंजिल्स के एक म्यूजिक कंसर्ट में बुलाया गया। स्टेज पर जाते-जाते उन्होंने अपने कदम पीछे खींच लिये। 45 मिनट बाद अचानक गागा के चेहरे पर मुस्कान उभरी। उन्होंने फरमाया-हां, मैं अब तैयार हूं। देरी की वजह थी - गॉड के सिगनल का इंतजार। बकौल उनके, हर गाने से पहले वह हमेशा भगवान के संकेतों को महसूस करने की कोशिश करती हैं। जब लगता है कि भगवान ने आज्ञा दे दी है, तभी उनके पैर स्टेज की ओर बढ़ पाते हैं।

उन पर ड्रग्स सेवन के आरोप भी लगे हैं, जिसे स्वीकार करने में उन्होंने गुरेज भी नहीं किया। वह मानती हैं कि इससे उन्हें म्यूजिक क्रिएट करने में मदद मिलती है। 14 सितंबर को उन पर एक किताब रिलीज होने वाली है- द राइज एंड राइज ऑफ लेडी गागा, जो उनके पूर्व टूर मैनेजर डेविड सिएमनी ने लिखी है। किताब के अनुसार, वर्ष 2009 में उन्हें छह बार अस्पताल में खराब स्थिति में भर्ती करना पड़ा। लेखक का कहना है कि गागा की फूड हैबिट्स बहुत खराब हैं, वह जंक फूड खाती हैं, वजन कम करने के चक्कर में खुद को कई कई दिनों तक भूखा रखती हैं।

उनका जन्म 28 मार्च 1986 को न्यूयॉर्क में एक इतालवी परिवार में हुआ। पिता छोटे से व्यवसायी थे। संघर्ष के बाद गुजारे लायक पैसा कमा पाते थे। मां भी बाहर नौकरी करती थीं। कुल मिलाकर मध्यवर्गीय परिवार, धार्मिक परिपाटियों पर चलने वाला, कुछ हद तक रूढ़िवादी। न्यूयॉर्क की एक साधारण-सी बस्ती में उनका अपना मकान था। नाम रखा गया स्टेफनी जर्मनोटा। मैनहट्टन के जिस स्कूल में वो पढ़ने गईं, वह कट्टर कैथोलिक स्कूल था, केवल लड़कियों के लिए। छोटी-सी स्टेफनी में कुछ ऐसा नहीं था कि वह लोगों को आकर्षित कर पाये। लेकिन एक गुण जरूर था, जो इतना खास था कि आज सारी दुनिया उसकी दीवानी है, वह खूबी थी संगीत की दीवानगी। महज चार साल की उम्र में वह पियानो में पारंगत हो गईं। कुछ और बड़ा होते-होते डांसिंग वंडर। 17 साल की उम्र में गाने लिखने लगीं, म्यूजिक की रचना करने लगीं। इसी उम्र में उन्हें उनकी प्रतिभा न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के उस  स्कूल ऑफ आर्ट्स में ले गई, जिसकी बीस सीटों में दाखिला लेने के लिए दुनिया में होड़ लगती है।

स्कूल में प्रवेश लेने के साथ वह धूम मचा रहे डेविड बोवी व फ्रेडी मर्करी जैसे ग्लैम रॉकर्स के बैंड के साथ जुड़ गईं। यहां वह गाने लिखती थीं। यहीं उन्होंने बैंड के क्वीन सांग से प्रेरित होकर गा-गा शब्द को अपने नाम में पिरोया। 2007 में वह क्लबों में लेडी गागा के नाम से परफॉर्म करने लगीं। अमेरिकी म्यूजिक इंडस्ट्री के लोगों की नजर उन पर पड़ी। सही मायनों में उन्हें आगे बढ़ाया पॉप सुपर स्टार एकोन ने। वह एकोन के दल में गाने भी लगीं। साथ में संगीत कंपनी इंटरस्कोप के लिए गाने भी लिखतीं। इसी दौरान इंटरस्कोप के साथ उन्होंने अपने पहले सोलो एलबम जस्ट डांस की तैयारी शुरू की। इसे अप्रैल 2008 में रेडियो पर रिलीज किया। लेकिन पूरा एलबम अगस्त तक रिलीज हो पाया। जस्ट डांस ने धीमे-धीमे गति पकड़ी। बिलबोर्ड हॉट 100 में जगह बनाने के बाद फिर ये दुनियाभर में इतनी तेजी से सुपर हिट हुआ कि लेडी गागा भी हैरान रह गईं। जनवरी 2009 तक ये दुनिया का नंबर वन एलबम बन गया था। इसी के साथ पॉप वर्ल्ड में एंट्री हुई एक नये सुपर स्टार लेडी गागा की।

उनके दूसरे एलबम पोकर फेस ने भी खासी धूम मचाई। बिक्री रेकार्डतोड़। अब इसके बाद उन्होंने जो गाया, उसने उनकी शोहरत में चार चांद ही लगाया। अब उनके पास वह सब कुछ है, जो बेहद सफल हस्ती के पास होता है। लेकिन सफलता और चमक-दमक जिस तेजी से आई, उसके लिए शायद वह खुद तैयार नहीं थीं। नतीजा ये हुआ कि जिंदगी असंतुलन का शिकार हो गई। पर्सनेलिटी में अजीबोगरीब तत्त्व आ गये। पुरानी कुंठाएं साथ-साथ चल रही थीं, जिसने उन्हें सफलता के दबावों के सामने असुरक्षा का बोध भी कराया। अब एक अलग ही लेडी गागा रोज दुनिया के सामने आती है, हैरान कर देने वाली हरकतें करती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हैरान करने वाली लेडी गागा