DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काशी के संतों ने कहा, समाज के लिए गौरव थे अवेद्यनाथ

काशी के संतों ने कहा, समाज के लिए गौरव थे अवेद्यनाथ

गोरक्ष पीठ के महंत अवैद्यनाथ के ब्रह्मलीन होने पर काशी संत-महात्माओं ने कहा कि उन्होंने न सिर्फ सनातन धर्म को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, बल्कि वह हमारे समाज के लिए गौरव भी थे और उनका न होना बड़ी रिक्तता पैदा कर गया है।

संकटमोचन मंदिर के महंत विश्वम्भरनाथ मिश्र ने कहा कि गोरक्ष पीठ में उनका काफी लंबा कार्यकाल रहा। उन्होंने उस पीठ का गौरव बढ़ाया। वह नाथ संप्रदाय के महत्वपूर्ण स्तंभ थे। हमें उनकी परंपरा को आगे बढ़ाना होगा।

सतुआ बाबा आश्रम के महामंडलेश्वर संतोष दास ने कहा कि महंत अवैद्यनाथ ने सभी संप्रदायों को तन-मन-धन से आगे बढ़ाया। उन्होंने सभी समाज के लोगों को महत्व दिया। गोरक्ष पीठ की कीर्ति को उन्होंने पूरे संसार में फैलाया। हमारी सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम उनके बताये रास्ते पर चलें। उम्मीद है कि उनके उत्तराधिकारी सांसद योगी आदित्यनाथ इसे पूरा करेंगे।

अन्नपूर्णा मंदिर के महंत रामेश्वर पुरी ने कहा कि महंत अवैद्यनाथ ने गोरक्ष पीठ का बहुत विकास किया। हिंदू धर्म को उन जैसे संत की कमी हमेशा खलेगी। यह नाथ संप्रदाय के लिए भी बड़ी  क्षति है। हालांकि उन्होंने एक योग्य उत्तराधिकारी बनाया जो उनके पदचिन्हों पर चलेंगे और समाज के लोगों को जोड़ने का काम करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:काशी के संतों ने कहा, समाज के लिए गौरव थे अवेद्यनाथ