फोटो गैलरी

Hindi Newsबिहार में नक्सली हमला, 3 जवानों सहित छह की मौत

बिहार में नक्सली हमला, 3 जवानों सहित छह की मौत

बिहार के औरंगाबाद जिले के गोह थाना क्षेत्र में माओवादियों के साथ कल शाम हुई मुठभेड़ में सैप के तीन जवान शहीद हो गए और दो निजी सुरक्षा गार्ड के अलावा एक वाहन चालक की मौत हो गई। पांच अन्य जवान घायल भी...

बिहार में नक्सली हमला, 3 जवानों सहित छह की मौत
एजेंसीThu, 18 Jul 2013 01:39 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के औरंगाबाद जिले के गोह थाना क्षेत्र में माओवादियों के साथ कल शाम हुई मुठभेड़ में सैप के तीन जवान शहीद हो गए और दो निजी सुरक्षा गार्ड के अलावा एक वाहन चालक की मौत हो गई। पांच अन्य जवान घायल भी हुये हैं।
   
पुलिस सूत्रों ने बताया कि गोह थाना क्षेत्र में कल शाम माओवादियों के साथ हुयी मुठभेड़ में सैप के तीन जवान शहीद हो गये और दो निजी सुरक्षा गार्डों की मौत हो गई, जबकि पांच अन्य जवान घायल हो गये हैं। घायल जवानों में से एक की गंभीर स्थिति को देखते हुये उसे बेहतर इलाज के लिये गया जिला स्थित मगध मेडिकल कालेज अस्पताल भेज दिया गया है। अन्य का इलाज औरंगाबाद स्थित अस्पताल में किया जा रहा है।
    
आधा दर्जन से अधिक अरमादा और बोलेरो जीपों पर सवार होकर हथियारों से लैस माओवादी निजी निर्माण कंपनी एमबीएल के कैंप कार्यालय पहुंचे और अंधाधुंध गोलीबारी करनी शुरू कर दी, जिससे सैप के तीन जवान शहीद हो गये और वहां मौजूद अन्य दो निजी सुरक्षा गार्ड तथा एक वाहन चालक की मौत हो गयी तथा पांच अन्य सैप के जवान घायल हो गये।
    
घटना स्थल पर सैप की 30 जवानों की टुकडी तैनात थी पर माओवादियों की संख्या बहुत अधिक होने और उनके अचानक धावा बोलने के कारण सैप जवानों को संभलने का मौका नहीं मिला और वे माओवादियों का सामना नहीं कर सके। वे अपनी जान बचाने के लिये आस पास के इलाके में भाग कर छुप गये। जान बचाने के लिये भागे सैप जवानों में अधिकतर आज सुबह वापस लौट आये हैं।
    
माओवादियों ने घटना स्थल से इनसास एसएलआर और एके 47 राइफलों समेत 29 आधुनिक हथियार और करीब 33 सौ कारतूस लूट लिये। माओवादियों ने कैंप कार्यालय में मौजूद छह गाडियों में आग लगा दी, जिसमें वाहनों को आंशिक क्षति पहुंची।
   
माओवादियों ने दिलाए नदी पर बने पुल को भी विस्फोटक के जरिये उडाने का प्रयास किया, जिसमें पुल को आंशिक रूप से नुकसान पहुंचा है। घटना स्थल पर अतिरिक्त पुलिस बल को आने से रोकने के लिये माओवादियों ने गोह मुख्य मार्ग पर दो स्थानों पर भूमिगत बारूदी सुरंग लगा रखी थी, जिसे बाद में बम निरोधक दस्ते द्वारा निष्क्रिय कर दिया गया।
   
पडोसी जिला गया के कोच होते हुये घटना स्थल की ओर पुलिस बल को लेकर आ रही एक बस के माओवादियों द्वारा लगाई गई बारूदी सुरंग की चपेट में आ जाने से बस चालक की मौत हो गयी। बस पर मौजूद बाकी अन्य पुलिस जवानों को कोई क्षति नहीं पहुंची है। इस मुठभेड में सैप जवानों की ओर से करीब 50 राउंड गोलियां चलायी गयी पर माओवादियों द्वारा की जा रही अंधाधुंध गोलीबारी और उनके अधिक संख्या में होने के कारण वे माओवादियों के सामने टिक नहीं सके।
   
राज्य के पुलिस महानिदेशक अभयानन्द देर रात्रि घटना स्थल का निरीक्षण कर पटना वापस लौट चुके हैं। अपर पुलिस महानिदेशक (विधि व्यवस्था) एस के भारद्वाज पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ घटना स्थल पर ही डेरा डाले हुये हैं और माओवादियों की गिरफ्तारी के लिये इलाके की नाकेबंदी कर छापामारी शुरू कर दी गयी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें