DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नोएडा जमीन विवाद भ्रष्ट लोगों का दुष्प्रचार: शांति भूषण

नोएडा जमीन विवाद भ्रष्ट लोगों का दुष्प्रचार: शांति भूषण

वरिष्ठ अधिवक्ता शांति भूषण ने उन्हें तथा उनके पुत्र को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा फार्महाउस का आवंटन होने को लेकर उठे विवाद पर बुधवार को कहा कि नये आरोप लोकपाल विधेयक मसौदा समिति में उनकी मौजूदगी से आशंकित भ्रष्ट और प्रभावशाली लोगों का दुष्प्रचार है।

शांति भूषण तथा उनके पुत्र जयंत भूषण को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा नोएडा में दस—दस हजार वर्गमीटर के दो फार्महाउस आवंटित होने संबंधी खबर एक प्रमुख अखबार में प्रकाशित होने के बाद पूर्व विधि मंत्री ने यहां एक बयान जारी कर कहा कि अगर भूखंडों का आवंटन मनमाने तरीके से हुआ है तो उसे निरस्त किया जाना चाहिये।

उन्होंने कहा कि अगर आवंटन निरस्त किया जाता है तो निश्चित तौर पर हम इसे चुनौती नहीं देंगे। भूषण ने कहा कि मुझे तथा मेरे पुत्र जयंत को मायावती सरकार द्वारा विवेकाधीन कोटे से फार्महाउस आवंटित होने की बात ऐसे भ्रष्ट और प्रभावशाली लोगों का दुष्प्रचार अभियान है, जो लोकपाल विधेयक मसौदा समिति में मेरी मौजूदगी से डरे हुए हैं। ऐसे लोगों को आशंका है कि समिति में मेरी मौजूदगी से एक सख्त भ्रष्टाचार निरोधक विधेयक का मसौदा तैयार होगा।

लोकपाल विधेयक मसौदा समिति के सह—अध्यक्ष ने कहा कि यह बात भी गौर करने लायक है कि मैं और मेरा पुत्र मायावती के खिलाफ अदालतों में मुकदमे लड़ रहे हैं। लिहाजा, मायावती से या उनकी सरकार की कृपादृष्टि होने का सवाल ही नहीं उठता।

उन्होंने कहा कि जयंत नोएडा में पक्षी अभयारण्य क्षेत्र में मायावती की प्रतिमाएं स्थापित करने के खिलाफ मुकदमा लड़ रहे हैं। मैं और प्रशांत भूषण भी पिछले सप्ताह तक ताज गलियारा मामले में मायावती के खिलाफ जनहित याचिका की सुनवाई में अदालत में पेश हुए हैं। ये मामले अब भी अदालतों में चल रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नोएडा जमीन विवाद भ्रष्ट लोगों की कारस्तानी: शांति भूषण