DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामयाबी के लिए भारतीयों की तरह करें जुगाड़...

भारतीय मूल के तीन लेखकों की ओर से मिलकर लिखी गई एक किताब में भारत में किए जाने वाले जुगाड़ की तारीफ के पुल बांधे गए हैं।
    
जुगाड़ की वकालत करने वाली इस किताब का नाम जुगाड़ इनोवेशन: थिंक फ्रुगल, बी फ्लेक्सिबल, जेनरेट ब्रेकथ्रु ग्रोथ है । यह किताब कैंब्रिज के प्रोफेसर जयदीप प्रभु, अमेरिका के नवाचार से जुड़ी रणनीति तैयार करने वाले नवी रादजू और अमेरिका एवं मुंबई में स्थित एक बाजार परामर्श कंपनी चलाने वाली सिमोन आहूजा ने लिखी है। 
    
किताब में पश्चिमी देशों की कंपनियों को सुक्षाया गया है कि वे गलाकाट प्रतिस्पर्धा के इस दौर में कामयाबी के लिए जुगाड़ का सहारा लेकर नए तरीके, नए नुस्खे इजाद कर सकते हैं।
    
इस किताब में जुगाड़ के छह सिद्वांत भी बताए गए हैं। जुगाड़ के इन सिद्धांतों में प्रतिकूल स्थिति में मौके की खोज, कम से कम मेहनत में ज्यादा फायदे का काम करना, लचीली सोच रखना और इसी तरह से काम भी करना, मुस्कान बरकरार रखना और आखिरकार अपने दिल की बात सुनना शामिल है।
    
जयदीप प्रभु कैंब्रिज जज बिजनेस स्कूल में भारतीय कारोबार एवं उद्यम विषय के प्रोफेसर हैं जबकि रादजू बिजनेस स्कूल के एक फेलो हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कामयाबी के लिए भारतीयों की तरह करें जुगाड़...