फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़डॉक्टर कर रहे हैं फलक की एक और सर्जरी की तैयारी

डॉक्टर कर रहे हैं फलक की एक और सर्जरी की तैयारी

एम्स में भर्ती फलक के शरीर में संक्रमण का स्तर कम होने के साथ ही उसकी चिकित्सा में जुटे डॉक्टर उसकी और एक सर्जरी करने की तैयारी कर रहे...

डॉक्टर कर रहे हैं फलक की एक और सर्जरी की तैयारी
ऐप पर पढ़ें

एम्स में भर्ती फलक के शरीर में संक्रमण का स्तर कम होने के साथ ही उसकी चिकित्सा में जुटे डॉक्टर उसकी और एक सर्जरी करने की तैयारी कर रहे हैं। फलक का इलाज कर रहे एम्स के न्यूरोसर्जन डॉक्टर दीपक अग्रवाल ने बताया कि संक्रमण का स्तर कम होने के बाद डॉक्टर उसे वेंटीलेटर से हटाने के बारे में भी विचार कर रहे हैं।

डॉक्टर अग्रवाल ने बताया, उसके रक्त और सीने से लिए गए नमूनों की कल्चर रिपोर्ट में बिल्कुल संक्रमण नहीं है। मस्तिष्क को छोड़ कर अन्य सभी हिस्सों में संक्रमण का स्तर कम होने के बाद हम उसकी और एक सर्जरी करने पर आज विचार करेंगे। फलक को बेहद गंभीर स्थिति में 24 दिन पहले एम्स के ट्रॉमा सेंटर में लाया गया था।
     
डॉक्टर अग्रवाल ने बताया, इन सभी बातों से साफ होता है कि उसे दी जाने दवाओं का उसपर अच्छा असर हो रहा है। जब तक मस्तिष्क का संक्रमण खत्म नहीं हो जाता उसकी हालत गंभीर बनी रहेगी। बहरहाल, डॉक्टर इस पर चिंतित हैं कि फलक लगातार बेहोशी की हालत में है।
     
उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि तीन सप्ताह से ज्यादा समय हो गया है और वह बेहोश है। यह अच्छा संकेत नहीं है। फलक के 18 जनवरी को एम्स के ट्रॉमा सेंटर में लाया गया था। उस वक्त उसके सिर पर कई घाव थे, दोनों बाहें टूटी हुई थी, उसके पूरे शरीर पर दांत से काटने के निशान थे और उसके गालों को गर्म छड़ों से दागा गया था।
     
एम्स में आने के तुरंत बाद उसके मस्तिष्क की जीवन रक्षक सर्जरी की गई थी। उसके बाद दो अन्य ऑपरेशन भी किए गए। इसके अलावा फॉरेंसिक विभाग ने उसके अभिभावकों की पहचान करने के लिए डीएनए परीक्षण भी किया है।

epaper