DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीआरटी कॉरिडोर पर बनेंगे हाफ सब-वे

दिल्ली सरकार बीआरटी कॉरिडोर पर हाफ सब-वे बनाएगी। सामान्य सब-वे से इनकी गहराई आधी होगी। बीआरटी कॉरिडोर पर यातायात अधिक होने के कारण लोगों को सड़क पार करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में दिल्ली सरकार का यह प्रयास अनोखा है क्योंकि अब तक काफी गहराई वाले सब-वे का इस्तेमाल होता था। हाफ सब-वे को सामान्य पार पथ से अधिक सुरक्षित माना जा रहा है।

सड़कों की पुनर्रचना के तहत बीआरटी कॉरिडोर के प्रमुख चौराहों पर हाफ सब-वे बनाए जाएंगे। इतना ही नहीं, सब-वे के अंदर खानपान व अन्य सार्वजनिक सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी। लोक निर्माण विभाग ने इस दिशा में काम शुरू कर दिया है। पहले चरण में यातायात संबंधी दिक्कतों को दूर किया जाएगा ताकि निर्माण कार्य के दौरान कोई तकनीकी परेशानी नहीं आए। बीआरटी कॉरिडोर 5.8 किलोमीटर लंबा है और इसके प्रमुख चौराहों को पैदल यात्रियों के लिए सुरक्षित बनाया जाना है।

अंबेडकर नगर से मूलचंद तक बना था बीआरटी

बीआरटी कॉरिडोर अंबेडकर नगर से मूलचंद के 2008 में बना था। कॉरिडोर की खामियों की वजह से ‘आप सरकार ने इसे तोड़ने का फैसला किया था। इसके बाद कॉरिडोर पर और भी नई चुनौतियां सामने आई है। इन चुनौतियों को दूर करने के लिए इस कॉरिडोर का नया डिजाइन तैयार किया गया है।

जल्द करेंगे पूरा

बीआरटी कॉरिडोर पर तकनीकी दिक्कतों को भले ही हटा दिया गया हो, लेकिन इस मार्ग पर वाहन आज भी पुराने ढर्रे पर दौड़ रहे हैं। इससे आज भी लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:b