अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब का ठेका बंद कराने के लिए महिलाओं ने रातभर जागकर दिया पहरा

शराब का ठेका बंद कराने के लिए महिलाओं ने रातभर जागकर दिया पहरा

चमोली जिले में गैरसैंण के मेहलचौरी गांव में शराब ठेके के विरोध में गांव की महिलाएं आंदोलन कर रही हैं। शराब की बिक्री को लेकर महिलाओं में इतना गुस्सा है कि यहां उन्होंने शुक्रवार को रातभर जागकर ठेके के बाहर पहरा दिया। उन्हें अंदेशा था कि शराब का ठेका यहां से गांव में दूसरी जगह शिफ्ट हो सकता है। महिलाओं की चार टीमें ठेके के बाहर पहरा देने के साथ ही कुछ स्थानों पर गश्त भी करती रहीं।

जानकारी के अनुसार गैरसैंण से सटे मेहलचौरी गांव में हाईवे पर शराब का ठेका है। गांव में 2013 में शराब का ठेका खुला। महिलाओं ने बताया कि शराब का ठेका खुलने के बाद गांव का माहौल खराब हो गया है। ज्यादातर पुरुष दिनभर मेहनत मजदूरी की कमाई को शराब में उड़ा देते हैं। यही नहीं गांव के नौजवान भी शराब की आदी हो रहे हैं। इससे बच्चे बिगड़ रहे हैं। शराब के नशे में लोग गांव का माहौल बिगाड़ रहे हैं। घर-घर में शराब के कारण कलेश बढ़ रहा है। महिलाएं लंबे समय से शराब ठेका का विरोध कर रही हैं। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के हाईवे से शराब ठेके हटाने के आदेश के बाद महिलाओं को पता चला कि शराब का ठेका यहां से गांव की ओर शिफ्ट किया जा रहा है। ऐसे में महिलाओं ने आंदोलन छेड़ दिया। खबर थी शुक्रवार को रातोंरात ठेके हाईवे से गांव में शिफ्ट कर दिया जाएगा। महिलाओं को जैसे ही यह बात पता चली उन्होंने चार टीमें बनाई और शराब ठेके विरोध में रातभर पहरा देने का फैसला लिया। महिलाओं की एक टीम शराब ठेके के बाहर बैठ गई। जबकि बाकी तीन टीमें उन संभावित स्थानों पर पहरा देती रहीं, जहां ठेका शिफ्ट करने की तैयारी थी। महिलाओं की इस सक्रियता से शराब ठेकेदार ठेके को गांव में शिफ्ट नहीं कर पाया। कमला देवी, सुंदरी देवी, प्रिंयका आदि महिलाओं ने इसके बार शनिवार गांव में बैठक भी बुलाई। जिसमें व्यापार सभा और महिला मंगल दल के बीच समझौता हुआ कि किसी भी सूरत में मेहलचौरी में शराब का ठेका खुलने नहीं दिया जाएगा। उधर, नई जगह ठेका शिफ्ट नहीं होने के कारण शनिवार को हाईवे पर शराब की दुकान पर ताला लटका रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Women's movement against the wine shop