when gautam gambhir refused to take man of the match award - 'ये' VIDEO देखकर आपके मन में गंभीर के लिए सम्मान और बढ़ जाएगा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'ये' VIDEO देखकर आपके मन में गंभीर के लिए सम्मान और बढ़ जाएगा

'ये' VIDEO देखकर आपके मन में गंभीर के लिए सम्मान और बढ़ जाएगा

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर अपना 36वां जन्मदिन मना रहे हैं। गंभीर के लिए यह जन्मदिन बहुत खास है क्योंकि अभी कुछ दिन पहले ही उन्होंने दो साल बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी की है। 2007 टी-20 वर्ल्ड कप हो या 2011 वर्ल्ड कप दोनों के फाइनल मैच में गंभीर ने अपनी पारी से जीत की नींव रखी थी। इसके अलावा 2009 में ईडन गार्डन्स मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ वनडे मैच में उन्होंने कुछ ऐसा कर दिया था जिसे देखकर हर किसी के मन में उनके लिए सम्मान बढ़ गया था।

भारत और श्रीलंका के बीच 24 दिसंबर को पांच मैचों की वनडे सीरीज का चौथा वनडे खेला जा रहा था। इस मैच श्रीलंका ने 316 रनों का लक्ष्य दिया और भारत ने 23 रन तक वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर का विकेट गंवा दिया था। गौतम गंभीर और विराट कोहली क्रीज पर थे। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 224 रनों की साझेदारी निभाई थी। विराट कोहली 107 रन बनाकर आउट हुए थे और यह वनडे में उनकी पहली सेंचुरी भी थी। गंभीर ने नॉटआउट 150 रन बनाए और टीम इंडिया को जीत दिलाई।

गंभीर को मैन ऑफ द मैच चुना गया, लेकिन उन्होंने अवॉर्ड अकेले लेने से मना कर दिया। उन्होंने अपना मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड विराट कोहली के साथ शेयर किया। गंभीर को जब मैन ऑफ द मैच के लिए बुलाया गया तो उन्होंने कहा, 'यह बहुत अहम साझेदारी थी। हम 315 रनों का पीछा कर रहे थे। ऐसी स्थिति में एक अच्छी साझेदारी बहुत जरूरी होती है।'

कोहली ने कहा, 'मैं खुश हूं कि टीम ने जीत हासिल की। मैं किसी दबाव में नहीं था। हमारी साझेदारी अहम थी। हम दोनों एक-दूसरे को कॉम्पिलिमेंट कर रहे थे।' मैच के प्रेजेंटेशन का वीडियो-

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:when gautam gambhir refused to take man of the match award