DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सचिन को याद आया कांबली का साथ

सचिन को याद आया कांबली का साथ

वैसे तो मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली के बीच खराब रिश्तों की खबरें जगजाहिर हैं लेकिन हाल ही में सचिन ने कांबली के साथ स्कूल में बिताये दिनों को याद करते हुये उनके साथ अपनी एक फोटो अपलोड की।
        
कांबली और सचिन ने 24 फरवरी 1988 को शारदाश्रम विद्या मंदिर की ओर से खेलते हुये 664 रन की नाबाद साझेदारी निभाते हुये विश्व रिकॉर्ड बनाया था जिसके लिये दोनों की जोड़ी को पहली बार ख्याति मिली थी। हालांकि बाद में दोनों के बीच रिश्ते खराब हो गये और दोनों की राहें जुदा हो गयीं।
       
सचिन का मानना है कि जिंदगी के सबसे बेहतरीन पल स्कूल के दिनों में ही बिताये जाते हैं जिन्हें जीवन भर याद किया जाता है। भारतीय लीजेंड क्रिकेटर ने इंस्टाग्राम वेबसाइट पर अपनी पोस्ट में एक फोटो अपलोड किया जिसमें वह कांबली के साथ खड़े नजर आ रहे हैं और कांबली ने सचिन के कंधे से कंधा मिलाया हुआ है।
      
सचिन ने कांबली के बारे में कहा, मैं कोई जज नहीं हूं जो किसी की प्रतिभा का आंकलन कर सकूं। हां लेकिन अगर आप हम दोनों के बीच अंतर की बात करते हैं तो मैं इतना ही कहना चाहूंगा कि हम दोनों की जीवनशैली बिल्कुल अलग थी। हम दोनों अलग अलग व्यक्तित्व के लोग हैं और किसी भी स्थिति का अलग अलग ढंग से जवाब देते हैं। मेरे मामले में मेरा परिवार मुझ पर हमेशा नजर बनाये रखता था और मेरा साथ देने के लिये हमेशा मेरे साथ खड़ा था लेकिन कांबली के बारे में मुझे कुछ नहीं पता।’’
     
वर्ष 1991 से 2000 तक टीम का हिस्सा रहे कांबली ने 104 एकदिवसीय और 17 टेस्ट मुकाबले खेले हैं। उन्होंने 23 साल की उम्र में अपना आखिरी टेस्ट मुकाबला वर्ष 1995 में खेला था। कांबली ने सचिन पर आरोप लगाये थे कि जब उनका करियर गर्दिश के दिनों में चल रहा था तो सचिन ने उनका साथ नहीं दिया। इसके अलावा सचिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के समय अपने विदाई भाषण के दौरान एक बार भी कांबली का नाम नहीं लिया था जिसके बाद दोनों के बीच रार सबके सामने एक बार फिर आ गयी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सचिन को याद आया कांबली का साथ