अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्म हवा के थपेड़ों से निकलना मुश्किल

गर्म हवा के थपेड़ों से निकलना मुश्किल

मार्च माह अभी समाप्त भी नहीं हुआ कि भगवान भाष्कर आसमान से आग का गोला बरसाना शुरू कर दिये। सुबह तीखी धूप निकलने के साथ ही गर्म हवा चलनी शुरू हो जा रही है। जो शाम तक बदस्तूर जारी है। आलम यह है कि लोगों को अभी से ही मई जून की गर्मी का एहसास होने लगी है। चिकित्सकों की माने तो धूप में घरों से निकलने से पूर्व खाली पेट न निकले। ज्यादा देर तक धूप में रहने के बाद तुरंत ठंडे पानी का प्रयोग करने से बचे।

गर्मी की तपिश के चलते लगातार तापमान में बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। बीते गुरुवार को अधिकतम तापमान जहां 40.8 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 20.7 सेल्सियस रहा। वहीं शुक्रवार को अधिकत्तम तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम 21.7 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं शनिवार की गर्मी को देखते हुए लोगों को तापमान में बढ़ोत्तरी होने का अंदेशा रहा। शहर के रामवृक्ष, आलोक वर्मा, मनोज केशरवानी, रामअवध वकील, हरप्रित सिंह, ओमप्रकाश जायसवाल आदि लोगों की माने तो ऐसी गर्मी अप्रैल में पड़ती थी, लेकिन इसबार मार्च माह के अंत से ही पढ़ना शुरू हो गई है। गर्मी का तेवर देखकर ऐसा लग रहा है कि इस बार गर्मी बीते कई वर्षो का रिकार्ड तोड़ देगी। सुबह जल्द ही भगवान भाष्कर अपनी तेज आंखें खोलकर आग का गोला बरसाना शुरू कर दे रहे है। नौकरीपेशा वालों के साथ ही हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। चिलचिलाती धूप में आने-जाने को विवश हो रहे हैं।

गर्मी शुरू होते ही रूलानी लगी बिजली

गर्मी शुरू होते ही बिजली भी अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते इन दिनों बेहताशा बिजली कटौती की जा रही है। आलम यह है कि शहरवासियों को कई बार बिजली कटने का दंश झेलना पड़ रहा है। वहीं ग्रामीण अंचलों की स्थिति दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। घंटों घंटों ग्रामीणों को बिजली का दर्शन ही नसीब नहीं हो रहा है।

गहराता जा रहा है पानी की समस्या

जिले के ताल तलैया व कुओं पर गर्मी का असर दिखाई देने लगा है। अभी से ही जहां उसके पानी सूखने लगे है। वहीं कई तो पहले से ही सूख गये है। यहीं हाल हैंडपंपों का भी है। दर्जनों हैंडपंपों ने अभी से ही पानी का साथ छोड़ दिया है। जो कुछ पानी उगल भी रहे है, वह गंदा पानी है। इससे ग्रामीण चाह कर भी उस पानी का सेवन नहीं कर पा रहे है। इससे पानी के लिए लोग अभी से ही परेशान होना शुरू हो गये है।

एसी, कूलर, फ्रीज का बाजार गर्म

जैसे जैसे गर्मी अपनी रफ्तार पकड़ रही है, वैसे वैसे बाजारों के इलेक्ट्रानिक दुकानों पर रौनक बढ़ गई है। इन दुकानों से लोग एसी, कूलर, फ्रीज व पंखा की खरीदारी करते हुए दिखाई दे रहे है। दुकानदार अशोक की माने तो गर्मी से बचने के लिए लोग अपने सामर्थ के अनुसार शीतल प्रदान करने वाले उपकरण की खरीदारी कर रहे है। हालांकि अभी तेजी नहीं आई है, लेकिन अप्रैल माह के अंत तक तेजी आ जाएगी।

शरीर को ढंककर निकले धूप में

चिलचिलाती धूप में यदि बहुत जरूरी हो तो पूरे शरीर को कपड़ो से ढंककर ही बाहर निकले। वहीं निकलने से पहले भरपूर नाश्ता करने के साथ पेट भर पानी जरूर पीये। यदि प्यास की तलब लग जाए तो तत्काल पानी का सेवन करे। बाहरी खाद्य पदार्था के सेवन करने से बचे। यदि चक्कर, उल्टी, पेट दर्द या अन्य किसी भी प्रकार की समस्या हो तो तत्काल चिकत्सिक से सलाह लें। ... डा. उमाशरण वरिष्ठ चिकित्सक।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Difficult to get out of hot air