DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाली में भारत की जीत, खाद्य सुरक्षा को खतरा नहीं: शर्मा

बाली में भारत की जीत, खाद्य सुरक्षा को खतरा नहीं: शर्मा

विश्व व्यापार मंच (डब्ल्यूटीओ) की बाली बैठक में भारत के दृढ रवैये और विश्वसनीय पहल से एक ऐसे पैकेज पर सहमति बनी है जिसके तहत विकासशील देश अपने मौजूदा खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम और अनाज की सरकारी खरीद के कार्यक्रमों को इस मामले में कोई नया समझौता होने तक बिना किसी पाबंदी के डर के जारी रख सकेंगे।

बैठक में भारतीय दल के नेता एवं वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने 1995  में विश्व व्यापार संगठन के गठन के बाद इसे पहला व्यापक ऐतिहासिक समझौता बताया और कहा कि यह भारत एवं दुनिया के सभी विकासशील देशों के लिए महान उपलब्धि का दिन है।

सूत्रों ने बताया कि शर्मा पिछले चार दिन से नई दिल्ली के संपर्क में हैं और उन्होंने कल रात से जारी गहन वार्ताओं की स्थिति से प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को अवगत कराया।

डब्ल्यूटीओ की यहां 3 सितंबर को शुरू हुई बैठक में चार दिन की रस्साकशी के बाद तैयार संशोधित बाली पैकेज में व्यापार एवं कस्टम प्रक्रिया को सरल बनाने तथा अल्पविकसित देशों को शुल्क मुक्त और कोटा मुक्त निर्यात की छूट देने के पैकेज भी शामिल है।

प्रतिनिधि मंडल नेताओं की बैठक में तय बाली पैकेज को अब पूर्ण अधिवेशन में पारित कराने की औपचारिकता मात्र शेष रह गयी है जो देर रात या कल सुबह तक सम्पन्न हो जाएगी। बैठक का आज आखिरी दिन था पर समझौता होने में विलम्ब के कारण शर्मा सहित तमाम मंत्रियों को अपनी वापसी के कार्यक्रम बदलने पड़ गए हैं।

जिनीवा में तैयार पहले के प्रस्ताव पर भारत को आपत्ति थी और उसने यहां आने के साथ ही स्पष्ट कह दिया था कि भारत खाद्य सुरक्षा और अनाज की सरकारी खरीद पर कोई ऐसा अंतरिम समाधान स्वीकार नहीं करेगा जिसे पक्के समाधान तक जारी रखने का वचन न हो।

जिनीवा प्रस्ताव में एक तथाकथित शांति उपबंध के तहत भारत को चार साल की मोहलत दी गई थी। इसके बाद खाद्य सब्सिडी का आंकड़ा उत्पादन लागत के 10 प्रतिशत तक सीमित रखने के नियम का उल्लंघन होने पर डल्यूटीओ के नियमों के तहत पाबंदी लग सकती थी।

नए प्रस्ताव के तहत खाद्य सुरक्षा के लिए अनाज के सार्वजनिक भंडार के बारे में एक अंतरिम व्यवस्था लागू होगी और इस दौरान जिनीवा में एक पक्का समझौता तैयार किया जाएगा। इस दौरान काई सदस्य विकासशील देशों के मौजूदा कार्यक्रम के विषय में डब्ल्यूटीओ में कोई शिकायत करने से परहेज करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाली में भारत की जीत,खाद्य सुरक्षा को खतरा नहीं: शर्मा