DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2020 में लोगों से ज्यादा होंगे मोबाइल कनेक्शन

2020 में लोगों से ज्यादा होंगे मोबाइल कनेक्शन

मोबाइल फोन की उपलब्धता और सेवाओं में लगातार हो बढ़ोतरी के मद्देनजर वर्ष 2020 तक देश में मोबाइल कनेक्शन के कुल आबादी से अधिक होने की उम्मीद है। दूरसंचार क्षेत्र के लिए उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन की ओर से आज जारी मोबिलिटी रिपोर्ट में कहा गया है कि 2020 तक देश में मोबाइल कनेक्शनों की संख्या 1.4 अरब पर पहुंचने की उम्मीद है। वहीं, महापंजीयक एवं जनगणना आयुक्त के अनुमान के मुताबिक इस वर्ष तक देश की कुल जनसंख्या एक अरब 32 करोड़ 61 लाख 55 हजार होगी।

मोबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार, चालू वर्ष में जीएसएम/एज उपभोक्ताओं की संख्या में जबरदस्त तेजी आने और इसके बाद उनके थ्रीजी की तरफ स्थानांतरण से आगे इसमें कमी आने का अनुमान व्यक्त किया गया है। इसमें कहा गया है कि 2020 में जीएसएम ग्राहकों की संख्या 2014 के 78 करोड़ से घटकर 52 करोड़ पर आ सकती है।

डब्ल्यूसीडीएमए/ एचएसपीए ग्राहकों की संख्या भी 2020 में 2014 के 12 करोड़ से बढ़कर 62 करोड़ पर पहुंचने की उम्मीद है। इस बढ़ोतरी में डब्ल्यूसीडीएमए की 13 प्रतिशत और एचएसपीए की हिस्सेदारी 45 प्रतिशत रह सकती है। एरिक्सन की रिपोर्ट में कहा गया है कि 2020 में इंटरनेट की चौथी पीढ़ी 4जी/एलटीई कनेक्शन बढ़कर 23 करोड़ पर पहुंच सकता है। कुल कनेक्शन में इसकी भागीदारी 17 प्रतिशत होगी।

रिपोर्ट के अनुसार, 2014 के अंत तक जीएसएम/एज तकनीक की पहुंच देश की 95 फीसदी आबादी तक थी जबकि 35 प्रतिशत से अधिक आबादी डब्ल्यूसीडीएम/एचएसपीए कनेक्शन से जुड़ी है, जिसके 2020 तक बढ़कर 90 प्रतिशत पर पहुंचने की संभावना है। साथ ही इस वर्ष तक 4जी कनेक्शन का विस्तार भी 40 प्रतिशत आबादी तक होने का अनुमान है।

भारत में कंपनी के प्रमुख क्रिस हॉटन ने रिपोर्ट जारी करते हुये कहा कि आने वाले वर्षों में भारतीय दूरसंचार ऑपरेटरों का जोर सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार करने पर होगा। साथ ही डाटा सेवाओं की बढ़ती मांग को देखते हुये इन्हें नेटवर्क की कवरेज, क्षमता और प्रदर्शन को मजबूत बनाने के लिए मैक्रो, माइक्रो और स्मॉल सेल का मिलाजुला नेटवर्क स्थापित करने ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में मोबाइल ब्रॉडबैंड की उपलब्धता में स्मार्टफोन की महती भागीदारी होती है। स्मार्टफोन उपभोक्ताओं की संख्या भी 2020 तक बढ़कर 75 करोड़ होने का अनुमान है, जबकि 2014 में यह 13 करोड़ रही थी। स्मार्टफोन की बिक्री में लगातार जारी तेजी की बदौलत डाटा इस्तेमाल की रफ्तार में तेजी आयेगी और 2020 तक एक माह में डाटा की खपत 18 गुना बढ़ सकती है।

रिपोर्ट के मुताबिक, देश के स्मार्टफोन इस्तेमालकर्त्ता रोजाना औसतन तीन घंटा अपने स्मार्टफोन के साथ बिताते हैं। इनमें से 25 प्रतिशत प्रतिदिन 100 बार अपने फोन को चेक करते हैं। स्मार्टफोन के साथ समय बिताने वालों में से करीब एक तिहाई चैटिंग, सोशल मीडिया और गेम जैसे एप्लिकेशन का इस्तेमाल करते हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि स्मार्टफोन के कुल इस्तेमालकर्त्ताओं में 70 प्रतिशत अपने फोन पर नियमित रूप से ऑनलाइन वीडियो देखना और 61 प्रतिशत सोशल नेटवर्किंग साइटों पर विजिट करना पसंद करते हैं। इसके मुताबिक, वर्ष 2013-15 के बीच 50 साल से अधिक आयु के लोगों के बीच भी स्मार्टफोन का क्रेज बढ़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2020 में लोगों से ज्यादा होंगे मोबाइल कनेक्शन