DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्याज दरों में और कटौती कर सकते हैं बैंक: जेटली

ब्याज दरों में और कटौती कर सकते हैं बैंक: जेटली

आवास, वाहन तथा अन्य कर्जों की मासिक किस्तें आने वाले दिनों में और कम हो सकती हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि बैंकों ने आने वाले दिनों और सप्ताहों में ब्याज दरों में और बड़ी कमी करने का वादा किया है। वित्त मंत्री ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक के बाद कहा कि वित्तीय सेवा सचिव धन के इंतजार में अटकी परियोजनाओं पर पर गौर करेंगे। साथ ही उन्होंने विश्वास जताया कि जल्दी ही अर्थव्यवस्था उच्चतर वृद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ेगी।

इस बैठक में जेटली ने बैंकों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की जिसमें रिजर्व बैंक की नीतिगत दर में कटौती का फायद ग्राहकों को देने और ऋण-वसूली की समस्या पर चर्चा हुई। जेटली ने कहा कि सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वित्त वर्ष 2015-16 के लिए बजट में आवंटित राशि से अधिक पूंजी दिए जाने की मांग पर विचार करेगी।

रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कटौती का फायदा ग्राहकों को देने के संबंध मंत्री ने कहा कि बैंकों ने विस्तृत प्रस्तुति दी है कि उन्होंने अपने ऋण की ब्याज दरों को कैसे कम किया है। मंत्री ने कहा कि नीतिगत दर में कटौती के एक हिस्से का फायदा उपभोक्ताओं को दिया जा चुका है पर कुछ बैंकों ने ऐसा नहीं किया है। मुझे लगता है कि अगले कुछ दिनों में कुछ बैंक और अधिक कटौती करने की स्थिति में होंगे। जेटली ने कहा कि कुछ बैंकों ने ब्याज कम करने में अपने तुलन पत्र से जुड़ी समस्या और लघु बचत योजनाओं पर उच्च ब्याज दर को लेकर परेशानी जाहिर की।
 
   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ब्याज दरों में और कटौती कर सकते हैं बैंक: जेटली