DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

15 जून के बाद बीएसएनएल में रोमिंग की मार से मुक्ति

15 जून के बाद बीएसएनएल में रोमिंग की मार से मुक्ति

सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल 15 जून से अपने उपभोक्ताओं को रोमिंग पर मुफ्त इनकमिंग कॉल्स की सुविधा देगी। दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज यह जानकारी दी।

बीएसएनएल निजी क्षेत्र के दूरसंचार ऑपरेटरों के साथ अधिक आक्रामक तरीके से प्रतिस्पर्धा करने की तैयारी कर रही है। नरेंद्र मोदी सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा होने पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रसाद ने कहा कि बीएसएनएल 15 जून से मुफ्त राष्ट्रीय रोमिंग की पेशकश करेगी। कंपनी पहले ही सुधार के रास्ते पर है। यह घोषणा पूर्ण मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) के लागू होने से पहले की गई है। पूर्ण एमएनपी इस साल जुलाई से लागू हो रही है। मार्च के अंत तक बीएसएनएल के उपभोक्ताओं की संख्या 7.72 करोड़ थी।

बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने कहा कि रोमिंग के दौरान मुफ्त इनकमिंग कॉल्स से राजस्व में कुछ कमी आएगी। इस तरह का पहला कदम उठाने की वजह से हमें फायदा होगा। हमें पोर्टिंग के अलावा नए ग्राहक भी मिलेंगे।

हालांकि, मुफ्त इनकमिंग कॉल्स की पेशकश एक साल के लिए ही होगी।

प्रसाद ने कहा कि 2004 में बीएसएनएल ने 10,000 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। मोदी सरकार के 2014 में सत्ता संभालने के समय कंपनी का घाटा 7,500 करोड़ रुपये पहुंच गया था।

इसी तरह दूसरी सरकारी कंपनी एमटीएनएल 2008 तक मुनाफे में चल रही थी, उसके बाद से यह लगातार घाटे में चल रही है। एमटीएनएल दिल्ली व मुंबई में सेवाओं की पेशकश करती है। वहीं बीएसएनएल शेष भारत में सेवाएं देती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:15 जून के बाद बीएसएनएल में रोमिंग की मार से मुक्ति