DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वास्थ्य मंत्री ने नियम के विरुद्ध कराई बेटी की नियुक्ति: मोदी

पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरोप लगाया है कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामधनी सिंह ने दबाव डालकर और नियम से परे जाकर अपनी बेटी की नियुक्ति कराई है। यह मामला एक माह पहले का है और मुख्यमंत्री के संज्ञान में है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि ऐसे स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त करें।

जनता के दरबार में पूर्व उप मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद श्री मोदी प्रेस से मुखातिब थे। उन्होंने कहा कि मंत्री रामधनी सिंह ने अपनी पुत्री अनीता कुमारी को न्यूनतम योग्यता नहीं रहते हुए प्रावधानों का उल्लंघन कर आईजीआईएमएस में लाइब्रेरियन के पद पर नियुक्त किया। मंत्री के नाते श्री सिंह खुद इस संस्थान के गवर्निंग बोर्ड के चेयरमैन हैं।

नियुक्ति संविदा पर हुई और इसके लिए कोई विज्ञापन भी नहीं हुआ। बाद में संविदा पर हुई इस नियुक्ति को स्थायी कर दिया गया। बहाली की आयुसीमा 18 से 30 है जबकि अनीता 37 साल छह माह की हैं। इस पद के लिए बीएससी और लाइब्रेरी साइंस की डिग्री चाहिए, लेकिन अनीता बीएससी नहीं हैं।

श्री मोदी ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के साथ समझौता कर रहे हैं। वे बताएं कि पिछले दो साल में कितने भ्रष्टाचारियों की संपत्ति जब्त हुई। कितने के घर में स्कूल खुले। राज्य सरकार दवा घोटाले के आरोपियों को बचा रही है। ट्रांसफार्मर खरीद में हुई गड़बड़ी को उन्होंने साक्ष्यों के साथ उठाया लेकिन सरकार ने जांच तक का आदेश नहीं दिया। आरोप लगाया कि नीतीश कुमार भ्रष्टाचारियों को समर्थन दे रहे हैं।

भाजपा नेता सुशील मोदी द्वारा लगाए गए आरोपों को स्वास्थ्य मंत्री रामधनी सिंह ने नकार दिया है। मंत्री ने कहा कि आईजीआईएमएस में जो भी बहाली हुई है, वह नियमानुसार हुआ है। नियमों की अनदेखी नहीं हुई है। स्वास्थ्य मंत्री रामधनी सिंह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वास्थ्य मंत्री ने नियम के विरुद्ध कराई बेटी की नियुक्ति: मोदी