DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमपीपीएससी का पर्चा लीक करनेवाला वजीरगंज से गिरफ्तार

एमपीपीएससी(मध्य प्रदेश पब्लिक सर्विस कमिशन) द्वारा आयोजित परीक्षाओं में पर्चा लीक करने वाले मास्टर माइंड अखिलेश पाण्डेय को भोपाल से आयी एसटीएफ की टीम ने मंगलवार को वजीरगंज थाना क्षेत्र के टनकुप्पा ओपी के चोवार गांव से गिरफ्तार किया। अखिलेश पर भोपाल पुलिस ने 15 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

अखिलेश सहित चार लोगों पर जुलाई 2014 में पर्चा लीक मामले में एफआईआर दर्ज हुआ था। तब से अखिलेश पुलिस की पकड़ से फरार था। कई बार चोवार में गिरफ्तारी के लिए छापेमारी के बावजूद अखिलेश नहीं पकड़ा जा सका। मंगलवार को भोपाल एसटीएफ क्राइम ब्रांच के डीएसपी सुनील कुमार शिवहरे की टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से अखिलेश को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।

एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि अखिलेश से पूछताछ के बाद उसे बुधवार को कोर्ट में पेश किया जायेगा। कोर्ट से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद भोपाल से आई पुलिस की टीम अखिलेश को लेकर जायेगी।

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने गिरोह का किया था भंडाफोड़

डीएसपी श्री शिवहरे ने बताया कि एमपीपीएससी द्वारा संचालित 2012-13 की विभिन्न परीक्षाओं में भी अखिलेश ने पर्चा लीक किया था। दिल्ली की क्राइम ब्रांच की टीम ने उस समय इसका खुलासा किया था। भोपाल एसटीएफ ने इस मामले में बिहार से वृजेन्द्र गुप्ता को गिरफ्तार किया था। इसके खुलासे में पर्चा लीक का मुख्य सरगना अखिलेश पाण्डेय का नाम आया था। इसी मामले में एसटीएफ ने पहले मध्यस्थ इलियास खान को भी गिरफ्तार किया था।

30-40 लाख में बेचा जाता था पर्चा

डीएसपी ने बताया कि एमपीपीएससी का पर्चा लीक करने के बाद उसे 30 से 40 लाख रुपये में बेचा करता था। उन्होंने बताया कि एमपीपीएससी की आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर की परीक्षा का पर्चा मध्य प्रदेश के 52 परीक्षाथियों को 40 लाख रुपये में बेचा गया था। बाद में पर्चा लीक होने का मामला सार्वजनिक होने के कारण यह परीक्षा रद्द कर दी गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एमपीपीएससी का पर्चा लीक करनेवाला वजीरगंज से गिरफ्तार