DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांधी मैदान सीरियल ब्लास्टः सिपाही एजाज हुसैन ने इम्तियाज को पहचाना

बहुचर्चित गांधी मैदान सीरियल बम ब्लास्ट मामले के गवाह सिपाही मो. एजाज हुसैन ने एनआईए की विशेष अदालत में आरोपित इम्तियाज अंसारी को पहचान लिया है। कोर्ट में गवाही देते समय सिपाही ने कहा कि पटना जंक्शन स्थित शौचालय के पास हुए बम विस्फोट के बाद उन्होंने इम्तियाज अंसारी को पकड़ा था। इससे पहले इस कांड के सभी आरोपितों को कड़ी सुरक्षा में बेउर जेल से अदालत में पेश किया गया था। 

एनआईए की विशेष अदालत में सिपाही एजाज हुसैन ने बताया कि यह घटना 27 अक्टूबर, 2013 को हुई थी। शौचालय में बम विस्फोट के बाद एक व्यक्ति जख्मी हालत में गिरा पड़ा था, जबकि दूसरा व्यक्ति घबराया हुआ था और भागने की फिराक में था। इंस्पेक्टर रामपुकार सिंह के कहने पर उन्होंने दूसरे व्यक्ति इम्तियाज अंसारी को पकड़ा था। पकड़ने के बाद की गई पूछताछ में इम्तियाज अंसारी ने बताया कि गंभीर रूप से जख्मी व्यक्ति का नाम तारिक है। इसके बाद तारिक को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया था।

सिपाही के मुताबिक, इम्तियाज अंसारी ने पूछताछ में बताया था कि वह रांची के सिठियों को रहने वाला है। उसे गांधी मैदान में आयोजित भाजपा की हुंकार रैली में बम धमका करने के लिए मेमन और हैदर अली ने भेजा था। उसके अलावा मुजीबल्लाह व अन्य लोग भी गांधी मैदान गए थे। पटना जंक्शन स्थित शौचालय में बम में बैट्री फिट करने के दौरान ही विस्फोट हो गया। दूसरा बम शौचालय के फ्लश में छिपाया था। अंसारी की निशानदेही पर ही पुलिस ने बम बरामद किया था। अंसारी के पास एक बैग भी मिला था, जिसमें खाना-पीने का सामान, कपड़ा और 10 हजार रुपए मिले थे। गवाह एजाज हुसैन की प्रतिपरीक्षण बचाव पक्ष द्वारा मंगलवार को किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गांधी मैदान सीरियल ब्लास्टः सिपाही एजाज हुसैन ने इम्तियाज को पहचाना