DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहारः पटरी पर गिरा 25 हजार वोल्ट का तार, बाल-बाल बची ‘बाघ’

बिहारः पटरी पर गिरा 25 हजार वोल्ट का तार, बाल-बाल बची ‘बाघ’

जंक्शन पर करंट हादसे से अभी लोग उबरे भी नहीं थे कि शनिवार की रात नारायणपुर अनंत स्टेशन की पटरी पर 25 हजार वोल्ट का तार टूटकर गिर गया। यह तो संयोग था कि स्टेशन पर खड़ी बाघ एक्सप्रेस खुली नहीं थी वरना बड़ा हादसा हो सकता था। तार गिरने से कुछ दूर की पटरी भी पिघल गई। हद तो यह है कि करीब आधा घंटा बाद बिजली काटी गई। करीब सवा घंटे तक मौके पर टीआरडी के अधिकारी नहीं पहुंचे। इस वजह से रात करीब साढ़े 11 बजे तक मुजफ्फरपुर से समस्तीपुर की ओर जाने वाली डाउन लाइन पर ट्रेनों का परिचालन ठप रहा।

रात करीब 9 बजकर 37 मिनट पर काठगोदाम से हावड़ा जाने वाली बाघ एक्सप्रेस स्टेशन पर खड़ी थी। ट्रेन को स्टेशन की ओर से सिग्नल भी दे दिया गया था। इस बीच 98 नंबर रेलवे फाटक के पास डाउन लाइन पर तार टूटकर गिर गया। ट्रेन जंक्शन से खुली नहीं थी। खुलने के बाद घटनास्थल से पहले ट्रेन को रोकना संभव नहीं था। हालांकि तार गिरने की सूचना मिलते ही जंक्शन पर खड़ी बाघ एक्सप्रेस को रोक दिया गया। रेल थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार एवं नारायणपुर अनंत के आरपीएफ के प्रभारी निरीक्षक ने घटना की पुष्टि की है।

यहां बता दें कि बुधवार को मुजफ्फरपुर स्टेशन पर भी इसी तरह का हादसा हुआ था। इस दौरान 25 हजार वोल्ट का तार टूटकर पोल पर गिर गया था। पोल से सटकर बैठे 10 लोग बुरी तरह झुलस गये। इसमें से एक की इलाज के दौरान मौत हो गई। तार टूटकर गिरने में टीआरडी व एलएंडटी कंपनी की भूमिका सवालों के घेरे में है। रेलवे लाइन का विद्युतीकरण एलएंडटी ने किया है जबकि रेलवे का टीआरडी डिपार्टमेंट तार का रखरखाव करता है। एनएंडटी पर भी आरोप है कि तार दौड़ाने में सुरक्षा मानकों का ख्याल नहीं रखा गया है। तार को काफी ढीला बांधा गया है।

बड़ी बात यह है कि इतनी बड़ी घटना के बावजूद सोनपुर मंडल के डीआरएम व एडीआरएम ने सरकारी मोबाइल उठाना भी मुनासिब नहीं समझा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहारः पटरी पर गिरा 25 हजार वोल्ट का तार, बाल-बाल बची ‘बाघ’