DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दर्जनों नियोजित शिक्षकों की नियुक्ति की फाइल गायब

दर्जनों नियोजित शिक्षकों की नियुक्ति की फाइल गायब

नियोजित शिक्षकों की निगरानी जांच शुरू होते ही नियुक्ति से संबंधित फाइलें गायब होनी शुरू हो गई हैं। मसौढ़ी अनुमंडल शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय से दर्जनों शिक्षकों के नियुक्ति संबंधी सारे कागजात गायब होने से हड़कंप मच गया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने इसकी सूचना विजिलेंस ब्यूरो को भी दी है। उधर, निगरानी अन्वेषण ब्यूरो भी जांच में जुट गया है।

वर्ष 2006 से लेकर इस वर्ष तक मसौढ़ी में दर्जनों शिक्षकों की नियुक्ति हुई थी। लेकिन निगरानी ब्यूरो ने जब जिला शिक्षा पदाधिकारी से नियुक्त शिक्षकों की संख्या व नियुक्ति संबंधी कागजात के बारे में जानकारी चाही तो वे उपलब्ध नहीं करा सकें। इसके बाद निगरानी ब्यूरो ने उस बैंक से संपर्क किया जिससे शिक्षकों को वेतन मिल रहा था। बैंक निगरानी को सारी सूचनाएं उपलब्ध करा रहा है। इसके अलावा निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने सात-आठ और बिन्दुओं पर जिला शिक्षा पदाधिकारी पटना से जवाब-तलब किया है।

निगरानी ब्यूरो ने डीईओ से पूछा है कि आखिर निगरानी जांच शुरू होने के बाद ही नियोजन से संबंधित कागज कैसे गायब हो गए। नियोजन से संबंधित कागजात का रखरखाव किस कर्मचारी व पदाधिकारी के जिम्मे था? उक्त पदाधिकारी ने उस कागजात का रखरखाव सही ढंग से नहीं किया या साजिश के तहत गायब कर दिया गया। वर्ष 2006 से लेकर वर्ष 2015 तक कितने शिक्षकों की नियुक्ति हुई है। जिला शिक्षा पदाधिकारी चंद्रशेखर सिंह के मोबाइल नंबर- 8544411731 पर संपर्क किया गया तो कोई जवाब नहीं मिला। 

शिक्षक नियोजन से संबंधित जो भी सूचनाएं मिल रही हैं, उस पर निगरानी ब्यूरो र्कारवाई कर रहा है।
रवीन्द्र कुमार, एडीजी, निगरानी अन्वेषण ब्यूरो

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दर्जनों नियोजित शिक्षकों की नियुक्ति की फाइल गायब