DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदमाशों का दिमाग ठंडा रखे पुलिसः नीतीश

बदमाशों का दिमाग ठंडा रखे पुलिसः नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को बिहार के आला पुलिस अफसरों से दो-टूक कहा कि हर हाल में बदमाशों के दिमाग को ठंडा रखिए। इसी से बिहार की इज्जत बढ़ी है। उन्होंने डीजीपी से कहा कि जिन जिलों में अपराध की घटनाएं लगातार घट रही हैं, वहां के एसपी व थानेदार को तलब करें। जिले का एसपी अगर ठीक है तो थानेदार भी ठीक रहेगा। थानेदार अगर टाइट है तो सब ठीक रहता है। अपराध से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं हो सकता है। अपराधियों का दिमाग अगर गरमाता है को दिमाग ठंडा करने का नुस्खा है पुलिस के पास, इसका इस्तेमाल कीजिए। मुख्यमंत्री ने हाल के दिनों में कई जिलों में हुई अपराध की घटनाओं पर इशारों में जता दिया कि राज्य सरकार इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष में 36 पुलिस अफसरों व पुलिस कर्मियों के बीच वीरता व सराहनीय सेवा पदक के वितरण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने ये बातें कही। डीजीपी पीके ठाकुर सहित कई डीजी, एडीजी व पुलिस मुख्यालय के आला अधिकारी इस मौके पर मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस की कार्रवाई और अनुसंधान में किसी प्रकार का हस्तक्षेप नहीं है। पिछले नौ वर्षों में उनकी सरकार ने यह कार्य संस्कृति विकसित की है। किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप चाहे वह बाहरी दबाव हो या अंदरूनी उसे स्वीकार नहीं करें।
कुमार ने शुक्रवार को यह संकेत दिया कि इंस्पेक्टर स्तर के पुलिस अधिकारियों को भी तेरह महीने का वेतन मिल सकता है। हाल ही में सरकार ने पुलिस कांस्टेबल से लेकर सब इंस्पेक्टर स्तर के पुलिस कर्मियों को बारह की जगह तेरह महीने का वेतन देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बदमाशों का दिमाग ठंडा रखे पुलिसः नीतीश