DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैं सीएम पद की रेस में नहीं : रवि शंकर

केन्द्रीय संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि एकबार फिर कहा कि वे बिहार के मुख्यमंत्री पद की रेस में नहीं हैं। गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि मुझे शर्मिंदा न करें।

कौन होगा बिहार में सीएम प्रत्याशी, इस सवाल पर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा का केन्द्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड ही तय करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद कई प्रदेशों में हुए चुनाव में भाजपा बिना कोई नाम घोषित किए उतरी जबकि कुछ राज्यों में पहले से नाम तय कर दिए गए थे। एक अन्य सवाल पर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि बिहार को विशेष दर्जा जुमला नहीं था और बिहार की पूरी चिंता की जाएगी।

भाजपा की हिम्मत की चिंता न करें लालू
केन्द्रीय मंत्री ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद द्वारा भाजपा को दी गई चुनौती पर कहा कि लालू जी भाजपा और उसके सीएम कैंडिडेट की हिम्मत की चिंता न करें। वे भाजपा, रविशंकर प्रसाद और सुशील मोदी की हिम्मत को भली-भांति जानते हैं।

नीतीश जी आप खामोश क्यों हैं?
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि लालू प्रसाद ने जहर पीकर नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री घोषित कर दिया। इस घटना को चार दिन बीत गए, लेकिन नीतीश जी बताएं कि आप खामोश क्यों हैं। विलय से गठबंधन पर क्यों तैयार हुए? आरोप लगाया कि मुलायम, लालू और अपने अध्यक्ष शरद यादव को धन्यवाद भी नहीं दिया। हड़बड़ी में गलती करना और बाद में पश्चाताप करना नीतीश कुमार की आदत है। संभव है तीन-चार महीने बाद वे कहें कि लालू प्रसाद के साथ जाकर उन्होंने गलती की। नीतीश कुमार के पास लालू प्रसाद की विरासत है। वह विरासत अपराध, अपहरण और लैक ऑफ गवर्नेंस की है।

कॉल ड्रॉप को लेकर सरकार गंभीर
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कॉल ड्रॉप को सरकार ने गंभीरता से लिया है। सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए 25 हजार नए टावर लगाए जा रहे हैं। अधिकारियों को ट्राई से बात करने का निर्देश दिया है कि देखें कोई इंसेंटिव दिया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैं सीएम पद की रेस में नहीं : रवि शंकर