DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार के आश्वासन पर होमगार्ड की हड़ताल समाप्त

होमगार्ड की हड़ताल 26वें दिन समाप्त हो गई। मंगलवार को गांधी मैदान में हजारों की संख्या में जुटे होमगार्डों की आमसभा के दौरान बिहार रक्षा वाहिनी स्वयं सेवक संघ के संरक्षक सोम प्रकाश ने इसका एलान किया। इससे पहले सोमवार को गृह विभाग के प्रधानसचिव और संघ के प्रतिनिधियों की वार्ता हुई थी। संघ के मुताबिक सरकार के साथ वार्ता में सहमति बनने और होमगार्डों से बातचीत के बाद यह निर्णय लिया गया है। हड़ताल समाप्त कराने में आईजी कुंदन कृष्णन और होमगार्ड अधिकारियों की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही।

होमगार्ड 15 मई से हड़ताल पर थे। उनकी पांच मांगें थी, जिसमें दैनिक और यात्रा भत्ता में बढ़ोतरी के साथ रिटायर होने पर एकमुश्त रकम देने, ड्यूटी के दौरान मौत होने पर अनुग्रह राशि एक लाख से बढ़ाने और 60 वर्ष तक ड्यूटी दिए जाने की मांग शामिल थी। संघ के महासचिव सुदेश्वर प्रसाद ने बताया कि बुधवार से होमगार्ड ड्यूटी पर लौट जाएंगे। सोमवार को गृहविभाग के प्रधानसचिव आमिर सुबहानी से वार्ता के दौरान कई बिंदुओं पर सहमति बनी थी।

इसमें होमगार्ड का दैनिक भत्ता तीन सौ की जगह सवा चार सौ करने, उम्र सीमा 58 से 60वर्ष, रिटायर होने पर एकमुश्त 1.5 लाख देने और यात्रा भत्ता 20 से बढ़ाकर 50 रुपए करना शामिल है। सूत्रों के अनुसार ड्यूटी पर मौत होने पर होमगार्ड के आश्रित को 1 की जगह 4 लाख अनुग्रह अनुदान मिल सकता है। सभा को संघ के अध्यक्ष अरुण कुमार ठाकुर, कार्यकारी अध्यक्ष देशबंधु आजाद, उपाध्यक्ष कन्हैया राय समेत कई नेताओं ने संबोधित किया। आईजी कुंदन कृष्णन भी सभास्थाल पर पहुंचे थे।

होमगार्ड की हड़ताल समाप्त होना अच्छी बात है। सरकार उनकी मांगों पर सहानभूतिपूर्वक विचार करेगी। - आमिर सुबहानी, प्रधानसचिव, गृह विभाग

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार के आश्वासन पर होमगार्ड की हड़ताल समाप्त