DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में तीन दिन और जारी रहेगा हीट वेव

पिछले माह 23 मई को प्रचंड गर्मी ने पांच सालों का रिकार्ड तोड़ा था और इस माह में नौ जून को कहर बरपा रही तपिश ने तीन सालों का रिकार्ड तोड़ दिया। मंगलवार को अधिकतम तापमान 46.0 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। इससे पहले तीन साल पूर्व 3 जून को अधिकतम तापमान 46.4 डिग्री रहा था।

लगातार सूबे में सबसे ज्यादा गया में गर्मी पड़ रही है। गया के बाद पटना का तापमान दो डिग्री कम 43.5 डिग्री रहा। पिछले पांच दिनों में गया का अधिकतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस चढ़ा है। पिछले साल 9 जून 2014 को अधिकतम तापमान 40.1 डिग्री ही था।

29 किमी की रफ्तार से चली गर्म पछुआ
तीन दिनों से जिला लू की चपेट में है। सुबह 8 बजे के बाद से तीखी धूप और गर्म हवा का कहर शुरू हो जा रहा है। दोपहर तो धूप में कुछ सेकेंड के लिए खड़ा रहना मुश्किल हो गया है। मंगलवार को भी गर्म पछुआ ने कहर बरपाया। 29 किलोमीटर की रफ्तार तक पछुआ चली। दिनभर लू के तेज थपेड़ों से आम जनजीवन झुलसता रहा। सूर्यास्त के बाद भी काफी कम राहत मिली। न्यूनतम तापमान 29.6 डिग्री रहने के कारण सोमवार को रात में भी राहत नहीं मिली।

आज से राहत मिलने की उम्मीद
भीषण गर्मी से हलकान जनजीवन को बुधवार से थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम विभाग के उप निदेशक आर के गिरी ने बताया कि बुधवार से तापमान में थोड़ी गिरावट का अनुमान है। गुरुवार से बादल मंडराने की संभावना है। उन्होंने कहा कि इस हफ्ते के अंत तक प्री मानसून की बारिश होगी। सूबे में 16 या 17 जून के करीब मानसून के आने की उम्मीद है। इस वक्त मानसून सिक्किम के आसपास है। इधर आने में वक्त लगेगा।

सड़कों पर पसरा रहा सन्नाटा
आसमान से बरस रहे आग के गोले और लू से आम जनजीवन पर भारी असर है। तीन दिनों से पूरा जिला भीषण लू की चपेट में है। गर्मी से लोग त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। दोपहर 11 बजे के बाद तीखी धूप और लू के कारण शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसर जा रहा है। लोग जरूरी काम के बाद ही सर से पांव तक कपड़ों से खुद को ढंककर निकल रहे हैं। शाम तक सड़कों पर भीषण गर्मी का असर दिख रहा है। न्यूनतम तापमान अधिक रहने के कारण रात में लोग परेशान हैं।

पिछले पांच दिनों का अधिकतम तापमान
9 जून    46.0
8 जून    44.9
7 जून    43.7
6 जून    42.9
5 जून     40.3

रोहतास में पारा पहुंचा 46 डिग्री
सासाराम (रोहतास)। इस साल का मंगलवार ऐसा पहला दिन था, जब सासाराम का तापमान 46 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। ऐसा लग रहा था मानो आसमान से आग बरस रही हो। धरती दहक रही थी। लू ऐसी कि देह को जला रही थी। मंगलवार की यह गर्मी एकदम से जानलेवा बन गई। पछुआ हवा कहर बरपा रही थी। घरों की खिड़कियां और दरवाजे बंद कर लिए गए थे। बड़े घरों से नहीं निकले और बच्चों के निकलने पर भी पाबंदी लगा दी गई।

सुबह में नौ बजे ही लू चलने लगी। बूढ़े और बच्चे गर्मी से त्राहि-त्राहि कर रहे थे। दफ्तरों में काम करने वाले हर आधा घंटा पर लोग कंठ को तर करते रहे। पंखे की हवा भी गर्म लग रही थी। लू से पीड़ित लोगों की भीड़ सरकारी व निजी अस्पतालों में उमड़ रही है। पहाड़ी इलाकों में लू का असर कुछ ज्यादा ही था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार में तीन दिन और जारी रहेगा हीट वेव