DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजद-जदयू गठबंधन में अब भी पेंच, राहुल से मिले नीतीश, कल सोनिया से मिलेंगे लालू

राजद-जदयू गठबंधन में अब भी पेंच, राहुल से मिले नीतीश, कल सोनिया से मिलेंगे लालू

बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर मुलायम सिंह यादव के सरकारी निवास पर राजद और जेडीयू के प्रमुख नेताओं के बीच बैठक हुई। दोनों दलों ने यह साफ किया कि वे गठबंधन में चुनाव लड़ेंगे। लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका। वहीं नीतीश ने राहुल गांधी से मुलाकात कर लालू पर दबाव बनाने की कोशिश की जबकि लालू यादव सोमवार को सोनिया गांधी से मिलेंगे।

बिहार विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे और मुख्यमंत्री पद की दावेदारी को लेकर मतभेद की अटकलों के बीच जनता दल (यूनाइटेड) और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने साफ किया है कि दोनों पार्टियां गठबंधन में चुनाव लड़ेगी। पर दोनों पार्टियों में सीट बंटवारे और मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका। दोनों पार्टियों ने सीट बंटवारे पर बातचीत के लिए छह सदस्य समिति बनाने का फैसला किया है। समिति में दोनों पार्टियों के तीन-तीन सदस्य होगें।

विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के सरकारी निवास पर दोनों दलों के नेताओं की बैठक हुई। करीब सवा दो घंटे चली इस बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद सुप्रीमों लालू यादव मौजूद थे। बैठक के बाद सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने सीट बंटवारे के लिए समिति के गठन का ऐलान करते हुए कहा कि यह तय है कि गठबंधन में ही चुनाव लड़ा जाएगा। यह सवाल किए जाने पर कि क्या मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई मतभेद हैं, उन्होंने इससे इनकार कर दिया। पर साथ ही जोड़ा यह बातें बाद में तय होंगी।

वापस बैठक में पहुंचे शरद यादव
जद(यू) अध्यक्ष शरद यादव बैठक से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ निकल गए थे। पर करीब एक घंटे बाद वह दोबारा मुलायम सिंह यादव के घर पहुंच गए। राजद सुप्रीमों लालू यादव सपा अध्यक्ष के घर पर पहले से मौजूद थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और शरद यादव के जाने के बाद लालू यादव सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के घर पर रुककर उनका इंतजार कर रहे थे।

राहुल गांधी से मिले नीतीश कुमार
बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन के मुद्दे पर रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। मुलाकात में चुनाव में गठबंधन और मौजूदा राजनीति स्थिति पर विस्तार से चर्चा हुई। कांग्रेस बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ने के संकेत दे चुकी है। ऐसे में राजद सुप्रीमों लालू यादव के साथ बैठक से ठीक पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की राहुल गांधी से मुलाकात को दबाव बनाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। कांग्रेस बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकार का समर्थन कर रही है।

सोनिया गांधी से मिल सकते हैं लालू यादव
राजद सुप्रीमों लालू यादव सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिल सकते हैं। पिछले दिनों राजद उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष से अपील की थी कि बिहार में भाजपा विरोधी गठबंधन के लिए काम करे। ऐसे में लालू यादव की सोनिया गांधी से मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। पार्टी के एक नेता ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष लालू यादव को जद(यू) और दूसरी पार्टियों के साथ मतभेद भुलाकर गठबंधन करने पर बातचीत करेंगी।

क्या-क्या फार्मूला
- सीट बंटवारे के एक फार्मूले के तहत राजद और जद(यू) सौ-सौ सीट पर चुनाव लड़ेंगे। बाकी 43 सीट पर कांग्रेस, एनसीपी और लेफ्ट पार्टियों के उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरेंगे।
- इस फार्मूले पर भी विचार किया जा रहा है कि मुख्यमंत्री के तौर पर नीतीश कुमार को पेश कर चुनाव लड़ा जाए, पर सीट बंटवारे में जद(यू) के मुकाबले राजद से पास कुछ सीट ज्यादा हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजद-जदयू गठबंधन में अब भी पेंच, राहुल से मिले नीतीश, आज सोनिया से मिलेंगे लालू