DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा को रोकने के लिए नीतीश कुमार का नेतृत्व भी स्वीकार : लालू

भाजपा को रोकने के लिए नीतीश कुमार का नेतृत्व भी स्वीकार : लालू

जनता परिवार का विलय टलने के बाद जदयू-राजद गठबंधन पर लगे ग्रहण से उबरने की पहल फिर तेज हो गई है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने यह भी ऐलान कर दिया है कि भाजपा को रोकने के लिए राजद को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव में लड़ने में कोई गुरेज नहीं है। दोनों दलों के शीर्षस्थ नेताओं लालू प्रसाद और शरद यादव ने शुक्रवार को अलग-अलग स्थानों पर लेकिन एक स्वर में दावा किया कि जदयू और राजद का गठबंधन होगा। हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस सवाल पर शुक्रवार को भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

गौरतलब है कि गठबंधन के नेता के सवाल पर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के तीखे बयानों के कारण दोनों दलों में तनातनी की स्थिति पैदा हो गई थी और गठबंधन की कवायद ठप पड़ गई थी।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव शुक्रवार को सहरसा-मधेपुरा के दौरे से लौटने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात करने उनके 7 सर्कुलर रोड स्थिति आवास पर गए। दोनों नेताओं के बीच करीब तीन घंटे तक बातचीत हुई। वहां से निकलकर दिल्ली के लिए रवाना होने के क्रम में शरद यादव ने कहा कि जदयू-राजद के बीच गठबंधन तय है। इसमें कोई संशय नहीं है।

नीतीश कुमार का नेतृत्व स्वीकार्य
उधर, अररिया में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने साफ कहा कि किसी कारण अगर जनता परिवार का विलय नहीं होता है तो गठबंधन जरूर होगा। उन्होंने साफ किया कि सांप्रदायिक शक्तियों को रोकने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजद को चुनाव लड़ने से कोई गुरेज नहीं है। यह सब मिल बैठकर तय किया जाएगा। कहा कि भाजपा को रोकने के लिए इकठ्ठा होकर चुनाव लड़ेंगे और शिकस्त भी देंगे। लालू प्रसाद अररिया के सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री तसलीमउद्दीन की पोती के शादी सामारोह में शामिल होने के लिए यहां आए थे और शुक्रवार को डाकबंगला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा कि अगर किसी कारणवश पार्टियों का विलय नहीं होता है तो गठबंधन जरूर होगा। सांप्रदायिक शक्तियों को रोकने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजद को चुनाव लड़ने से कोई गुरेज नहीं है। यह सब मिल बैठकर तय किया जाएगा। भाजपा को रोकने के लिए इकठ्ठा होकर चुनाव लड़ेंगे और शिकस्त भी देंगे। लालू प्रसाद अररिया सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री तसलीमउद्दीन की पोती के शादी सामारोह में शामिल होने के लिए यहां आए थे और शुक्रवार को डाकबंगला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

सीटों का तालमेल जल्द करेंगे
उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव नजदीक है। इसलिए जल्द ही सीटों पर तालमेल कर लिया जाएगा। कुछ लोग जानबूझ कर भ्रम पैदा कर रहे हैं। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी को गठबंधन में शामिल किए जाने के सवाल पर लालू प्रसाद ने कहा कि हमसे किसी की कोई बात नहीं हुुई है। लेकिन महागठबंधन होकर रहेगा। जदयू, राजद, कांग्रेस व एनसीपी इकळा मिल कर चुनाव लडेंगे।

केन्द्र सरकार हर मोर्चे पर फेल
अररिया। प्रतिनिधि। केन्द्र में मोदी सरकार के एक साल पूरा होने पर राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर फेल है। केन्द्र सरकार के कामकाज को जीरो नंबर दिया जाएगा। एक सवाल के जवाब में राजद सुप्रीमो ने कहा कि इस देश में जितना हक हिन्दुओं का है, उतना ही मुसलमानों व अन्य धर्मावलंबियों का भी। सभी धर्मों के लोगों का इस देश में बराबर का हक है।

देश में सांप्रदयिकता का जहर फैलाने के लिए भाजपा व आरएसएस उल-जुलूल बयानबाजी करते रहते हैं। लालू प्रसाद ने कहा कि पप्पू यादव के जाने से राजद की सेहत पर कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है। कौन कहां जाता है, किससे बात करता है इससे कोई फर्क नहीं पडे़गा। इस मौके पर राजद जिलाध्यक्ष अनिल कुमार यादव, जदयू नेता अजय झा, यादव कुलानंद सिंहा, मीर रज्जाक, कमरूज्जमा, शाद अहमद बबलू, अरूण कुमार यादव, आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा को रोकने के लिए नीतीश कुमार का नेतृत्व भी स्वीकार : लालू