DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में आम-लीची की रखवाली पर राजनीतिक घमासान

बिहार में आम-लीची की रखवाली पर राजनीतिक घमासान

मुख्यमंत्री आवास 1 अणे मार्ग में आम, लीची, कटहल समेत अन्य पेड़ों की रखवाली राजनीतिक मुद्दा बन गया है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के प्रवक्ता ने बुधवार को आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आदेश पर 1 अणे मार्ग में 24 कांस्टेबल आम व लीची की रखवाली के लिए तैनात किए गए हैं। गुरुवार को कहा कि उन्होंने आज तक सीएम हाउस का आम और लीची नहीं खाया है। श्री मांझी ने यह भी कहा कि जबतक मुख्यमंत्री आवास में हूं, वहां के फलों पर भी मेरा अधिकार है।

गुरुवार को इस बाबत पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इतनी तुच्छ बातों पर वह सोचते ही नहीं हैं। यह सब उनकी जानकारी में नहीं है। मुझे आम नहीं अवाम की चिंता है। अगर जीतन राम मांझी को आम चाहिए तो उन्हें मिल जाएगा और इसका भुगतान मैं अपने वेतन के पैसे से करुंगा। उधर, एडीजी मुख्यालय सुनील कुमार ने दावा किया कि एक अणे मार्ग में आम, लीची, कटहल और अन्य सामान की सुरक्षा में पुलिसकर्मियों की तैनाती पहले से होती रही है। यह कोई नई बात नहीं है। उन्होंने यह भी दावा किया कि  सुरक्षाकर्मियों ने वहां किसी को फल तोड़ने से नहीं रोका है।

उधर इस सवाल पर भाजपा के वरीय नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार को आड़े हाथों लिया है। मोदी ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दलित-महादलित प्रेम महज एक दिखावा है। दरअसल राजनीतिक दुर्भावना व बदले की कार्रवाई के लिए वे किसी भी हद तक गिर सकते हैं। पेड़ों पर पुलिसिया पहरा बैठा कर जीतनराम मांझी को अब आम की चटनी तक के लिए तरसा रहे हैं। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि खुद बतौर सीएम लीची और आम खाए तो बिहार की जनता को हिसाब नहीं दिया, जब मांझी के खाने की बारी आई तो आम और लीची का हिसाब ले रहे हैं।

इस मुद्दे पर लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मांझी को प्रति द्वेष की भावना से काम कर रहे हैं। फलदार पेड़ों की निगरानी में वरीय अधिकारियों को लगाकर उन्हें नीचा दिखाने का प्रयास कर रहे हैं। यह द्वेष भी परकाष्ठा है। बहरहाल, 1 अणे मार्ग में सुरक्षाकर्मी तैनात करने की कार्रवाई को बड़ा मुद्दा बनाने की कोशिश शुरू हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार में आम-लीची की रखवाली पर राजनीतिक घमासान