DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गडकरी बताएं केन्द्र का पैसा रास्ते में कहां फंसा है: ललन

पथ निर्माण मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी गांधी सेतु के लिए पांच सौ करोड़ देने की बात कर रहे हैं, तो वह बता दें रास्ते में पैसा कहां फंसा है। दो साल में एनएच को चकाचक करने की बात कर वह जनता को फिर लोकसभा चुनाव की तरह सपने दिखा रहे हैं। विधानसभा चुनाव बाद उनके अध्यक्ष फिर कह देंगे कि वह तो जुमलेबाजी थी।

मंत्री ने कहा कि श्री गडकरी अब कहने लगे हैं कि गांधी सेतु की मरम्मत के लिए 2800 करोड़ का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) जायका ने तैयार किया है। पहले पैसा देने की बात कह गए थे। जनता को डीपीआर से क्या मतलब है। वह यह तो बता दें कि यह पैसे कब मंजूर करेंगे। महात्मा गांधी सेतु वर्ष 2000 में एनएच का पार्ट बना। तब से अब तक केन्द्र ने मात्र 205 करोड़ की स्वीकृति दी है, उसमें भी मात्र 133 करोड़ जारी किए गए हैं जो राज्य सरकार ने खर्च कर दिया है। मंत्री ने कहा कि केन्द्र के अनुसार पटना-बक्सर रोड पर काम एक महीने में शुरू हो जाएगा। लेकिन यह भी एक जुमेलबाजी है। एक माह बाद बरसात का मौसम आ जाएगा। गडकरी जी बताएं कि बरसात में सड़क बनाने का काम होता है क्या?

दरअसल विधानसभा चुनाव को देखकर केन्द्र सरकार जुमेलबाजों के सहारे लोकसभा चुनाव जैसा माहौल बनाना चाह रही है। यह जनता को एक बार फिर ठगने का प्रयास है। मंत्री एक साल का काम बताने की जगह अगले दो साल की योजना जनता को बता रहे हैं और चुनाव बाद उससे मुकर जाएंगे। हमने तो पूरा हिसाब दे दिया कि केन्द्र से क्या मिला और हमने क्या खर्च किया। इसी तरह उनको भी आगे की योजना बताने के पहले पिछले एक साल का काम बताना चाहिए। लेकिन उनके पास कुछ हो तब तो बताएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गडकरी बताएं केन्द्र का पैसा रास्ते में कहां फंसा है: ललन