DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेता के सवाल पर जदयू-राजद की दोस्ती टूटने के कगार पर

नेता के सवाल पर जदयू-राजद की दोस्ती टूटने के कगार पर

विधान सभा चुनाव में नेता घोषित करने के सवाल पर राजद और जदयू के बीच पैदा हुई मतभेद की खाई मंगलवार को और चौड़ी हो गई। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने जहां यह साफ कर दिया कि उनका दल नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही चुनाव में उतरेगा, वहीं राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने नेता के सवाल पर अपने तीखे बयानों की कड़ी में एक कदम और आगे बढ़ते कहा कि चुनाव में किसी का चेहरा सामने रखकर जाना ठीक नहीं होगा। अगर चेहरे की बात होगी तो राजद से भी कई चेहरे सामने आ सकते हैं। 

उधर, खाद्य आपूर्ति मंत्री श्याम रजक ने पलटवार में कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह भाजपा के पे रोल पर काम कर रहे हैं। वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बीच संवादहीनता बनी हुई है। इस बीच एनडीए के दलों ने जदयू और राजद के बीच चल रहे इस खींचतान पर चुटकी ली।

पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरोप मढ़ा कि नीतीश कुमार कांग्रेस को ओट लेकर लालू प्रसाद को डरा रहे हैं। उनका दावा है कि जदयू और राजद में गठबंधन होकर रहेगा, जबकि लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान ने दावा किया कि नीतीश कुमार और लालू प्रसाद का गठबंधन हो ही नहीं सकता है।

नीतीश के नेतृत्व में ही जाएंगे चुनाव में: बशिष्ठ
पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने मंगलवार को कहा कि नेतृत्व के मुद्दे पर जदयू की सोच बिल्कुल साफ है। हम नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही चुनाव में जाएंगे। गठबंधन को लेकर अब भी आशान्वित हैं। ऐसे समय में जब इस पर बातचीत चल रही है, इस तरह का बयान देना ठीक नहीं है। उनका इशारा राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के बयान की तरफ था।

उन्होंने कहा कि राजद नेताओं को बयानबाजी से परहेज करना चाहिए। बतौर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ट्रैक रिकार्ड, गवर्नेंस माडल और काम करने के तरीके की पूरे देश में चर्चा होती रही है। राजद नेता साफ-साफ समझ लें गठबंधन होने पर इसके नेता नीतीश कुमार ही होंगे। 

रघुवंश भाजपा के पेरोल पर काम कर रहे: रजक

खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्याम रजक ने भी करारा हमला बोला है। कहा है कि रघुवंश प्रसाद सिंह भाजपा के पे रोल पर काम कर रहे हैं। अपने बयानों से वह भाजपा को सहयोग पहुंचा रहे हैं। उन्होंने भी साफ कहा कि गठबंधन में नीतीश कुमार के अलावा कोई दूसरा नेता नहीं होगा। श्री रजक के मुताबिक रघुवंश के बयान से गठबंधन की कोशिशों को नुकसान पहुंचेगा।

चेहरा सामने रखकर चुनाव में जाना ठीक नहीं: सिंह

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। राष्ट्रीय जनता दल के उपाध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने मंगलवार को फिर दोहराया है कि किसी का चेहरा सामने कर चुनाव में जाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि जदयू नेताओं में साहस है तो उनकी बात काट कर दिखाएं। ये नेता बताएं कि भाजपा ने किस नेता का नाम आगे किया है। चुनाव के लिए कोई चेहरा आगे करने की जरूरत नहीं है। चेहरों की बात होगी तो राजद में भी कोई कमी नहीं है।

श्री सिंह ने मंगलवार को अपने आवास पर मीडिया से बात की। कहा कि पहले कोई चुनाव चेहरा सामने कर नहीं लड़ा जाता था। जहां तक चेहरों की बात है तो समय आने पर राजद से ही चेहरे सामने ला दूंगा। मौका मिलने पर कोई भी व्यक्ति चेहरा बन जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेता के सवाल पर जदयू-राजद की दोस्ती टूटने के कगार पर