DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में विषाक्त भोजन से 63 लोग हुए बीमार

स्थानीय थाना क्षेत्र के पिरही गांव में सोमवार की रात शादी समारोह में भोजन करने से 63 लोग बीमार हो गए। बीमार लोगों को कुर्था पीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद 25 लोगों को विशेष इलाज के लिए सदर अस्पताल में भेजा गया। हालांकि इलाज के बाद अधिकांश लोगों को छुट्टी दे दी गई है।

मिली जानकारी के अनुसार पिरही निवासी मुंदर साव के घर देवकुंड से बारात आई थी। बारात में आए लोगों और अन्य संबंधियों को नास्ता दिया गया। नास्ता करने के बाद लोगों की तबियत बिगड़ने लगी। बीमार बजरंगी कुमार ने बताया कि नास्ते के आधे घंटे के बाद जोर से पेट में दर्द और उल्टी की शिकायत हुई। पेट दर्द अधिक होने के कारण अधिकांश लोग पेट के बल सो कर छटपटाने लगे।

आनन-फानन में लोगों को किसी तरह से कुर्था पीएचसी में भर्ती कराया गया। लेकिन एक साथ कई दर्जन मरीज पहुंचने के कारण अस्पताल में थोड़ी देर के लिए अफरातफरी मच गई। ड्यूटी पर तैनात डा. प्रमोद कुमार और पीएचसी प्रभारी श्रीनिवास शर्मा ने स्वास्थ्यकर्मियों से मिलकर किसी तरह स्थिति को संभाला और प्राथमिक उपचार के बाद आधे मरीज को अरवल सदर अस्पताल में रेफर किया गया। बीमार पड़ने वालों में बजरंगी कुमार, आलोक कुमार, मनीष कुमार, छोटु कुमार, दुर्गेश कुमार, रितेश कुमार, राकेश कुमार, रंजीत कुमार, रेखा कुमारी, मीरा कुमारी, नवल प्रसाद, रौशन कुमार, हरिनारायण सिंह, मिंटु कुमार, गणेश कुमार, दिनेश कुमार, गौतम कुमार, शिव कुमार, सुकन साव, गुडू कुमार, संजय कुमार, संतोष कुमार, छोटु कुमार, लवकुश, जितेन्द्र पासवान एवं भगत साव समेत पांच दर्जन से अधिक लोग शामिल हैं।

क्या कहते हैं डाक्टर
पीएचसी प्रभारी श्रीनिवास शर्मा ने बताया कि फूड प्वायजनिंग के कारण पेट दर्द और उल्टी की शिकायत हुई है। उन्होंने आशंका जाहिर की कि ज्यादा पुराने दूध के पाउडर से बने मिठाई खाने से ही लोगों को परेशानी होने लगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार में विषाक्त भोजन से 63 लोग हुए बीमार