DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में बिना मांझी के पार नहीं लगेगी किसी की नैयाः मांझी

बिहार में बिना मांझी के पार नहीं लगेगी किसी की नैयाः मांझी

आसन्न विधानसभा चुनाव में बिना मांझी के किसी भी गठबंधन की नैया पार नहीं लगेगी। हमें नीतीश कुमार को छोड़कर किसी दल से कोई परहेज नहीं है। ये बातें पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने मंगलवार को सासाराम व डेहरी में हुई प्रेस वार्ता में कही।

नीतीश से बिहार को मुक्त कराने के लिए शुरू किए गए अभियान के तहत रोहतास जिले के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि एक वर्ष में नरेन्द्र मोदी के शासनकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ। बाजपेयी जी की तरह मोदी भी सरकार चला रहे हैं। श्री मांझी ने प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी ने देश में कांग्रेसमुक्त सरकार बनाने का अभियान चलाया था। उसी तर्ज पर मैं बिहार को नीतीश से मुक्त कराने के लिए गरीब स्वाभिमान यात्रा पर निकला हूं। बिहार के सभी विधानसभा क्षेत्रों में घूम-घूमकर नीतीश की करतूतों का खुलासा करूंगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि नीतीश बिहार को बर्बाद करने पर तुले हुए हैं। नीतीश की किस्मत में अब सीएम बनने की रेखा नहीं रही। मेरी लोकप्रियता को देखकर नीतीश कुमार ने मुझे सत्ता से बेदखल किया और मेरे कार्यकाल में लिए गए सभी फैसलों को लागू करने में कोताही बरत रहे हैं। श्री मांझी ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान जदयू में भूकम्प आ सकता है। एक सवाल के जवाब में मांझी ने कहा कि उनका दल अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगा। चुनाव के बाद किसी दल को समर्थन देने या लेने पर विचार किया जाएगा।

उन्होंने लालू प्रसाद को नीतीश कुमार के जाल में नहीं फंसने की सलाह भी दी। श्री मांझी ने कहा कि जबसे हम जदयू से अलग हुए हैं, तब से हमारे दिल में यही सवाल उठता है कि हमसे क्या गलती हुई कि हमें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिलाया गया। हमने कैबिनेट में 34 अहम फैसले लिए थे। वे फैसले गरीब, युवाओं, खेत मजदूरों व किसानों, मजदूरों, शिक्षकों के हित में हमने लिए थे। लेकिन, नीतीश कुमार को यह अच्छा नहीं लगा। हमने नीतीश कुमार से कहा था कि हम आपसे बढ़िया काम करके दिखाएंगे। जब बढ़िया काम करने लगे, तो नीतीश ने हमें सीएम पद से हटने के लिए विवश कर दिया।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हम मुख्यमंत्री थे, तब चपरासी से लेकर प्रधान सचिव तक नीतीश कुमार के लोग थे। फाइल मांगने पर वे लोग देने से इनकार कर देते थे। तब हमने उन पदाधिकारियों को हटाकर दूसरे अधिकारियों को बैठाया और बिहार विकास के शिखर की ओर बढ़ने लगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने सासाराम परिसदन और डेहरी में सतीश सिंह के आवास पर प्रेस वार्ता की। मौके पर विधायक राजेश्वर राज, युवा क्रांति के सत्येन्द्र साह समेत कई लोग मौजूद थे। विधायक राजेश्वर राज ने बताया कि पूर्व सीएम जीतनराम मांझी बुधवार को कोचस में सभा करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार में बिना मांझी के पार नहीं लगेगी किसी की नैयाः मांझी