DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों को पल-पल की खबर दे रहा था रामजीवन

नक्सलियों को पल-पल की खबर दे रहा था रामजीवन

पश्चिमी दियारा में चले ऑपरेशन व हार्डकोर रमेश पासवान से मुठभेड़ की जानकारी देवरिया का रामजीवन दास नक्सलियों को दे रहा था। रविवार को रामजीवन दास के साथ चार संदिग्धों को पुलिस टीम ने हिरासत में लिया था। पूछताछ के दौरान देवरिया डुमरी के एक युवक को पुलिस ने छोड़ दिया। गिरफ्तार तीनों नक्सलियों की भूमिका साहेबगंज के बंगरा घाट पर पुल निर्माण कंपनी के बेस कैंप पर हमले में रही है।

रविवार को एसटीएफ के साथ एडिशनल एसपी अभियान राणा ब्रजेश ने पारू के भटौलिया गांव से राकेश पासवान, देवरिया थाना के डुमरी परमानंदपुर से रामजीवन कुमार दास व भटौलिया से प्रमोद पासवान को गिरफ्तार कर लिया। प्रमोद पासवान जैंतपुर ओपी के अरारपुर रूपौली गांव का रहने वाला है। पुलिस गिरफ्त में आये रामजीवन दास कोचिंग में पढ़ाने के साथ-साथ चंडीगढ़ से इंजीनियरिंग भी कर रहा है। सूत्रों के अनुसार रमेश पासवान के पश्चिमी दियारा में शरण लेने की सूचना पर एडिशनल एसपी अभियान ने छापेमारी अभियान चलाया। छापेमारी के लिए पुलिस टीम के पश्चिमी दियारा में बढ़ने के बाद रामजीवन दास ने ही रमेश पासवान व अन्य नक्सलियों को मोबाइल पर सूचना दी थी। पुलिस टीम पर रामजीवन दास बमबारी करने की भी योजना बना रहा था। तब तक रमेश पासवान के अड्डे की पुलिस ने घेराबंदी कर ली। इसी दौरान पुलिस व रमेश पासवान में फायरिंग होने लगी। मौका पाकर रमेश पासवान भाग निकला। पुलिस का कहना है कि रामजीवन दास, राकेश पासवान व प्रमोद पासवान से पूछताछ में महत्वपूर्ण जानकारी हाथ लगी है। जिसके आधार पर छापेमारी चल रही है। तीनों नक्सलियों की गिरफ्तारी मोतिहारी में धराएं दसई राम की निशानदेही पर रविवार को की गयी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सलियों को पल-पल की खबर दे रहा था रामजीवन