DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू-राजद गठबंधन में अहम भूमिका निभाएगी कांग्रेस

जदयू-राजद गठबंधन में अहम भूमिका निभाएगी कांग्रेस

बिहार में जनता दल (यूनाइटेड) और राष्ट्रीय जनता दल के बीच गठबंधन को लेकर बनी भ्रम की स्थिति को दूर करने के लिए कांग्रेस हस्तक्षेप कर सकती है। कांग्रेस के कई नेता चाहते हैं कि बिहार में धर्मनिरपेक्ष दलों को एकजुट करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से बात करे। ताकि, एक मजबूत विकल्प बन सके।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, बिहार विधानसभा चुनाव में धर्मनिरपेक्षदलों की एकजुटता जरुरी है। क्योंकि, लोकसभा की तरह सभी पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ी, तो भाजपा को चुनाव में बढ़त मिल सकती है। इसलिए, बड़ी पार्टी होने के नाते कांग्रेस का यह दायित्व है कि वह सभी समान विचारधारा और धर्मनिरपेक्ष दलों को एकजुट करने में अपनी भूमिका निभाए।

राष्ट्रीय जनता दल और जद(यू) के नेता भी यह मानते हैं कि गठबंधन को अंतिम रुप देने में कांग्रेस सक्रिय भूमिका निभाती है, तो इससे गठबंधन को मजबूती मिलेगी। राजद के एक नेता ने कहा कि कांग्रेस दोनों पार्टियों के नेताओं को बैठाकर बात करती है, तो इससे गठबंधन को पहचान मिलेगी। साथ ही ज्यादा से ज्यादा सीट लड़ने को लेकर चल रही जोर आजमाइश भी बंद हो जाएगी।

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव गोडा ने कहा कि सभी सेकुलर पार्टियों को एकजुट करने की संभावनाएं तलाश रही है। पार्टी चाहती है कि बिहार में भाजपा को रोकने के लिए विपक्षी पार्टियां एकजुटता के साथ चुनाव लड़े। यह पूछे जाने पर कि क्या पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी इस बारे में दोनों पार्टियों के नेताओं के साथ चर्चा कर सकती है, राजीव गोडा ने कहा कि इस बारे में उन्हें फिल्हाल कोई जानकारी नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जदयू-राजद गठबंधन में अहम भूमिका निभाएगी कांग्रेस