DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न्याय के लिये चौथी बार मधुश्री का अनशन

न्याय के लिये चौथी बार मधुश्री का अनशन

उच्च शिक्षा प्राप्त एक महिला कई वर्षों से पारिवारिक संपत्ति में हक व ससुरालियों की प्रताड़ना के खिलाफ न्याय के लिये संघर्ष कर रही है। पिछले पांच महीने के दौरान रविवार से शुरू हुआ यह उनका तीसरा व कुल मिलाकर चौथा आमरण अनशन है। आरोप है कि हर बार स्थानीय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी के लिखित आश्वासन पर अनशन खत्म तो कराया जाता है लेकिन उनके साथ इंसाफ नहीं हो पाता।

प्रखंड के सिंगराही गांव निवासी अश्विनी कुमार सिंहा की पत्नी डां. मधुश्री सिन्हा जयनगर क्षेत्र से वर्ष 2001 में जिला परिषद सदस्य निर्वाचित हो चुकी हैं। फिलहाल जिले के बाबूबरही प्रखंड में आइसीडीएस में अनुबंध पर बतौर महिला पर्यवेक्षिका कार्यरत हैं। ससुरालियों के द्वारा प्रताडित, बेघर, बेहक व सामाजिक मान सम्मान को ठेस पहुंचाने के चलते वे अपने पति व बच्चों के साथ जिला मुख्यालय मधुबनी में रहती हैं। अनशन स्थल हरेक बार जयनगर थाना के सामने शहीद चौक का अंबेदकर प्रतिमा स्थल होता है। अकेली अनशन पर बैठती हैं मधुश्री। पारिवारिक संपति में हिस्सा के अलावा महिला की मांग है कि दबाव में लिये गये जबरिया हस्ताक्षर व अंगूठा निशान के मामले को सार्वजनिक किया जाय। उनके अलावे पति व बच्चों पर किये गये झूठे मुकदमें की उच्च स्तरीय जांच हो। जन पंचायत के निर्णय सार्वजनिक किये जांए। परिवार के सभी सदस्यों के जानमाल के सुरक्षा की गारंटी हो और जुर्म के मुख्य सूत्रधार राम दय सिंह, मधुकर प्रसाद सिंह व रवीन्द्र कुमार सिंह से ईलाज के लिये एक मुश्त राशि दिलायी जाय।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:न्याय के लिये चौथी बार मधुश्री का अनशन