DA Image
6 जून, 2020|3:41|IST

अगली स्टोरी

बेहतर उच्च शिक्षा को होगा एजुकेशनल काउंसिल का गठन: चौधरी

शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने रविवार को यहां कहा कि शक्षिा के क्षेत्र में बिहार के पुराने गौरव को फिर से स्थापित करने के लिए उच्च शक्षिा में सुधार अति आवश्यक है। पुराने समय में बिहार में नालंदा व वक्रिमशिला जैसे वश्विवद्यिालय थे, जहां वश्वि भर के छात्र उच्च शक्षिा पाने के लिए आते थे। उच्च शक्षिा को सशक्त बनाने के लिए एजुकेशनल काउंसिल का गठन किया जायेगा। इसके लिए 14 मई को राजगीर में राज्यपाल की अध्यक्षता में सूबे के सभी वश्विवद्यिालयों के कुलपति व उप कुलपति के साथ बैठक होगी।

नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी का कार्यालय जल्द ही नालंदा आयेगा। इसपर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि सूबे में प्राइमरी, सेकेण्ड्री व उच्च शिक्षा के विकास के लिए लगातार नये-नये प्रयोग किये जा रहे हैं।

सभी विश्वविद्यालयों का होगा एक जैसा शैक्षणिक कैलेण्डर
उन्होंने कहा कि राजगीर में होने वाली बैठक में उच्च शिक्षा को सशक्त बनाने के विभन्नि पहलुओं पर गहन मंथन किया जाएगा। साथ ही यह भी तय होगा कि सूबे के सभी विश्वविद्यालयों में परीक्षा का समय एक हो। एक ही शैक्षणिक कैलेंडर से इन विश्वविद्यालयों में पढ़ाई हो। इससे सूबे के छात्रों को फायदा हो। सभी विश्वविद्यालयों में नियमित पढ़ाई हो और शक्षिकों की पर्याप्त संख्या हो।

वाई-फाई से जुड़ेंगे सूबे के मेडिकल कॉलेज
श्री चौधरी ने बताया कि आने वाले दिनों में सूबे के मेडिकल कॉलेजों व अन्य उच्च शक्षिण संस्थानों को वाई-फाई से जोड़ा जायेगा। इससे छात्रों को तकनीकी उपयोग में आसानी हो सकेगी। सूबे के सभी जिलों के डीईओ को यह नर्दिेश दिया गया है कि वे अपने-अपने जिले में सभी स्कूलों का नियमित जांच करें। समय पर नहीं आने वाले शक्षिकों के खिलाफ कार्रवाई करें। इस मौके पर शम्स तबरेज मल्लिक व अन्य भी मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:educational council will be constitute for higher education choudhary