DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भागलपुर में खुलेगा बिहार का पहला ट्रिपल आईटी

इंजीनियरिंग कॉलेज कैंपस में सूबे का पहला आईआईआईटी (ट्रिपल आईटी) खुलेगा। केंद्र के सहयोग से राज्य की बीएसईडीसी एजेंसी पीपीपी मोड पर इसका संचालन करेगी। दो सितंबर को नेशनल स्क्रीनिंग कमेटी से इस पर मुहर लग गई और 50 एकड़ जमीन भी मुहैया करा दी गई है। 

इसमें आईआईटी एडवांस के जरिए दाखिला होगा। 
अगले साल से 60 छात्रों के साथ पहला सत्र शुरू होगा, जबकि दूसरे सत्र में 120 छात्रों को दाखिला दिया जाएगा। प्राचार्य डॉ. निर्मल कुमार ने बताया कि शुरुआती दौर में आईआईआईटी के लिए कॉलेज परिसर के अंदर हॉस्पिटल की बिल्डिंग, लैब, हॉल और एक क्लास रूम मुहैया कराए जाएंगे। 

केंद्र की नेशनल स्क्रीनिंग कमेटी की 14 मार्च 2012 को हुई दूसरी बैठक में ही बिहार सरकार से डीपीआर मांगी गयी थी। इसके बाद राज्य की टीम ने कई बार जांच-परख की और जगह चयनित होने के बाद डीपीआर भेजी। इसमें बिहार स्टेशन इलेक्ट्रॉनिक डेवलपमेंट कॉरपोरेशन और बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड को पार्टनर के रूप में दर्शाया गया था। 

इनमें एनएससी ने बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड को यह कहकर खारिज कर दिया कि इसमें आईटी सेक्टर की एजेंसी चाहिए। अब कमेटी ने नई एजेंसी चुनने के लिए राज्य को तीन साल की मोहलत दी है। 

हरसंभव मदद देगा इंजीनियरिंग कॉलेज: इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य डॉ. निर्मल कुमार ने बताया कि इंजीनियरिंग कॉलेज और भागलपुर के लिए यह गौरव की बात है कि बिहार में पहला आईआईआईटी यहां खुलेगा। इंजीनियरिंग कॉलेज भी हरसंभव मदद देगा। 

इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर की 50 एकड़ की जमीन पर शुरुआती दौर में 128.53 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। यह राशि बढ़ भी सकती है। आईआईआईटी भवन का इस तरह निर्माण कराया जाएगा, जिससे भूंकप और बाढ़ में कोई नुकसान न हो। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bihars first iiit will be opened in bhagalpur